अपने विवादित बयानों के लिए अक्सर सुर्ख़ियों में रहने वाले बीजेपी के राज्यसभा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी ने एक बार फिर से विवादित बयान दिया है.

उन्होंने कहा कि अगर मुसलमान ये मान लें कि हमारे पूर्वज हिंदू हैं तो हम एक हो जाएंगे. जब तक वे खुद को मोहम्मद गोरी और मो. गजनवी का वंशज मानेंगे तब तक हम एक नहीं हो सकते. स्वामी ने कहा, वे मानें कि कश्मीर से कन्याकुमारी तक चाहे ब्राह्मण हो या फिर दलित, हिंदू हो या मुस्लिम, सभी का डीएनए एक ही है.

अरुंधती वशिष्ठ अनुसंधान पीठ की ओर से आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कतरे हुए अयोध्या विवाद पर उन्होंने कहा किजहां रामलला पैदा हुए वहीं राममंदिर का निर्माण होगा. मुसलमान सरयू के उस पार मस्जिद बनवा लें. इसमें उनकी हर संभव मदद की जाएगी.

उन्होंने कहा, हिंदुओं की अयोध्या, काशी और मथुरा में आस्था है, इसलिए यहां विवादित स्थान को मुस्लिम खुद ही छोड़ दें. अयोध्या में राममंदिर के बाद काशी, मथुरा में भी आसानी होगी.

स्वामी ने कहा कि लाल कृष्ण आडवाणी और उमा भारती ने कोई मस्जिद नहीं तोड़ी है। उन्होंने एक पुराना मंदिर तोड़ा है ताकि वहां एक नया मंदिर बन सके.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?