बीते दिनों सचिवालय में हुए हमले को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह को निशाने पर लेते हुए कहा कि ‘उनकी हत्या’ की साजिश रची जा रही है। केजरीवाल ने भी कहा था कि उन पर हमला साजिश के तहत किए जा रहे हैं।

उन्होंने सोमवार को दिल्ली विधानसभा में कहा, ” सचिवालय में हुए हमले के बाद केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह का फोन आया था। मैंने कहा कि ऐसा हो सकता है कि आप भाषण दे रहे हों तो कोई स्याही फेंक दे। अगर नरेंद्र मोदी दिल्ली के सीएम को सुरक्षा नहीं दे सकते तो वे इस्तीफा दे दें। दिल्ली पुलिस आज केंद्र सरकार के अधीन है। ऐसे में यदि मेरे उपर बार-बार हमला होता है तो इसका मतलब यह है कि या तो आप मिले हुए हैं या निक्कमे हैं।”

उन्होंने आगे कहा, “पहली बार दिल्ली में एक सरकार आयी है जो स्कूल और अस्पताल बनवा रही है। इससे पहले लूट राज चल रहा था। अब जनता नरेंद्र मोदी से पूछ रही है कि अापने क्या विकास किया? दिल्ली के स्कूलों और अस्पतालों से गुजरात के स्कूलों और अस्पतालों की तुलना कीजिए। सीवर और बिजली की भी तुलना कीजिए। नरेंद्र मोदी के 12 साल और हमारे साढ़े तीन साल, दोनों की तुलना में नरेंद्र मोदी हार जाते हैं। अब यदि जनता कालाधन, बिजली, रोजगार जैसी बातों के बारे में पूछने लगती है तो इनके पास एक ही चारा बचता है, केजरीवाल को मरवा दो। ये नहीं चाहते कि इनकी लूट पाट खत्म हो। इसलिए साजिश के तहत हमें खत्म करना चाहते हैं।”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सोमवार को गुरुग्राम के गौशाला ग्राउंड में आयोजित स्कूल-अस्पताल रैली में लोगों को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा कि मेरे ऊपर 2 साल के अंदर 4 हमले हुए। ये लोग मुझे मरवाना चाहते हैं। ये लोग मुझे जिंदा नहीं छोड़ेंगे. मुझे पता है कि मेरी जिंदगी बहुत छोटी है, लेकिन दोस्‍तों मेरी एक ही ख्‍वाहिश है कि जितने भी दिन जिंदा हूं, मेरी एक-एक सांस इस देश की सेवा के लिए जानी चाहिए और जिस दिन मैं मरूं, मेरे शरीर के खून का एक-एक कतरा इस देश के लिए जाना चाहिए। मैं इनसे नहीं डरता। मैं मौत से नहीं डरता। इनको जो करना है, ये लोग कर लें।

साथ ही उन्होंने कहा, ‘मेरी सुरक्षा केंद्र सरकार के ऊपर है। प्रधानमंत्री जी के ऊपर है। भाजपा की केंद्र सरकार के ऊपर है। अगर 2 साल में 4 बार हमले होते हैं तो मन में तो आता ही है कि यही लोग करवा रहे हैं।

Loading...