Sunday, June 26, 2022

धारा 370 से हुई छेड़छाड़ तो कश्मीर में नहीं दिखेगा तिरंगा: NC विधायक

- Advertisement -

केंद्र में मोदी सरकार के आने के साथ ही धारा 370 को लेकर कश्मीर में बड़ी बहस छिड़ी हुई है। BJP-PDP गठबंधन टूटने के साथ ही ये मुद्दा अब और गरमा गया है। इसी बीच नेशनल कांफ्रेंस (एनसी) के विधायक जावेद राणा ने बुधवार को कहा कि अनुच्छेद 35ए और अनुच्छेद 370 के साथ यदि किसी तरह की छेड़छाड़ की गई तो कश्मीर में तिरंगा भी नजर नहीं आने वाला।

मंगलवार को अपने विधानसभा क्षेत्र में एक सभा को संबोधित करते हुए राणा ने कहा, ‘धारा 35-ए में कोई बदलाव हुआ या फिर 370 को समाप्त करने की कोशिश हुई तो फिर यहां (जम्मू-कश्मीर में) हिन्दुस्तान के झंडे का नामोनिशान नहीं रहेगा।

राणा ने कहा, ‘मैं मीडिया के जरिए प्रधानमंत्री से अनुरोध करना चाहता हूं कि अनुच्छेद 35-ए और 370 के साथ कोई छेड़छाड़ न की जाए। अनुच्छेद 370 की वजह से हम इस देश से जुड़े हुए हैं। अगर 370 खत्म हो जाएगा तो हिंदुस्तान के साथ हमारा संबंध समाप्त हो जाएगा।’ राणा ने कहा कि न रहेगा बांस और न बजेगी बांसुरी।

जनसभा में उपस्थित लोगों को धारा 370 की रक्षा के लिए आगे आने का आह्वान करते हुए जावेद राणा ने कहा कि अगर 370 खत्म हो जाती है तो दूसरे राज्यों से अमीर लोग यहां आ जाएंगे और आपका सब कुछ खरीद लेंगे। आज इस धारा के कारण आप लोगों के लिए किसी के पास आरबीए, किसी के पास एएलसी किसी के पास कुछ केटेगरी है, जिसके दम पर आप लोगों को नौकरियां मिल रही हैं। अगर यह धारा समाप्त हो जाएगी तो आपका सब कुछ समाप्त हो जाएगा।

इससे पहले राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री तथा पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ़्ती ने इस मामले में कहा था कि जम्मू कश्मीर से धारा 370 को नहीं हटाया जा सकता है क्योंकि यह केंद, सरकार तथा राज्य सरकार के बीच सेतु का काम करता है। उन्होंने कहा, ‘अगर कोई धारा 370/35-ए को हटाने की कोशिश करेगा तो वह नष्ट हो जाएगा।’

उन्होने कहा, एजेंडा ऑफ एलांयस जम्मू कश्मीर को मुसीबत से बाहर निकालने के लिए बनाया गया था। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने कश्मीर के लोगों के गुस्से और घृणा का इस वजह से सामना किया क्योंकि वह जम्मू कश्मीर को मुश्किलों से बाहर निकालना चाहती थी। उन्होंने कहा, ‘मैं अपने एजेंडे को जारी रखूंगी, इसके लिए अकेले लड़ हूं और अपनी लड़ई जारी रखूंगी।’

- Advertisement -

Hot Topics

Related Articles