केन्द्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलकात के बाद बाबरी मस्जिद की शहादत को लेकर कहा कि राममंदिर निर्माण में अपनी भूमिका के लिए मुझे कोई खेद नहीं है. मंदिर के लिए मुझे जेल जाना पड़े या फांसी पर लटकना पड़े तो भी मैं तैयार हूं.

उन्होंने कहा,  राम मंदिर मेरी आस्था का विषय है. मेरे विश्वास का विषय है. मुझे इस पर गर्व है. अगर जेल भी जाना पडे तो जाउंगी, फांसी पर लटकना पड़े तो लटक जाउंगी. उन्होंने आगे कहा कि मामला उच्चतम न्यायालय में है, इसलिए ज्यादा नहीं बोलेंगी लेकिन खुद उच्चतम न्यायालय का कहना है कि मामले का हल अदालत से बाहर भी हो सकता है.

तीन तलाक के मुद्दें पर उन्होंने कहा कि मुस्लिम समाज में तलाक की व्यवस्था एक करार है. यह धर्म का नहीं बल्कि कानून का विषय है. समाज में हमेशा सुधार की गुंजाइश रहती है. तीन तलाक मानवता के खिलाफ है और हमें उम्मीद है कि जल्द ही इसका रास्ता निकलेगा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री के रूप में योगी आदित्यनाथ की प्रशंसा करते हुए कहा कि अब उत्तर प्रदेश में तेजी से काम होगा. गंगा सफाई को लेकर योगी बतौर सांसद भी सदन में कई बार बोल चुके हैं. उमा ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार के विभाग मिलकर योगी के सामने गंगा सफाई के बारे में प्रस्तुतिकरण देंगे और उम्मीद है विलंब दूर होगाऔर इस दिशा में कार्य जल्द ही तेजी से शुरू किया जाएगा.

Loading...