पशु क्रूरता निवारण अधिनियम को लागू कर निशाने पर आई केंद्र की मोदी सरकार ने भारी विरोध के बीच सुचना और प्रसारण मंत्री एम. वेंकैया नायडू ने मौर्चा संभालते हुए बीफ के मुद्दें पर कहा कि देश में सबको अपने पसंद का भोजन खाने का अधिकार है.

आकाशवाणी वार्षिक पुरस्कार समारोह को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, मैं विशुद्ध मांसाहारी हूं और किसी ने भी मुझसे नहीं कहा कि क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए. खान-पान निजी पसंद है. इस बारे में क्यों बहस हो रही है. नायडू ने आगे कहा कि ‘मैं मांसाहारी हूं. मुझे कभी भी किसी ने भी कुछ भी खाने से नहीं रोका है. भोजन व्यक्तिगत पसंद की चीज है.

एनडीटीवी पर सीबीआई की छापेमारी को लेकर नायडू ने कहा कि कोई भी छूट का दावा सिर्फ इसलिए नहीं कर सकता कि वह मीडियाकर्मी है. उन्होंने कहा हम सिर्फ इतना चाहते हैं कि आप कानून का पालन करे.

गौरतलब रहे कि मोदी सरकार के कैटल बैन के खिलाफ तमिलनाडु और केरल में कई जगहों पर कई ‘बीफ पार्टियां’ भी आयोजित की गई. वहीँ मेघालय में कई बीजेपी नेताओं ने अपने इस्तीफे दे दिए.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?