केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू ने तीन तलाक के मुद्दे पर मुसलमानों को हिंदू समाज से सीख लेने की नसीहत दी हैं. उन्होंने कहा कि जिस तरह हिंदुओं ने बाल-विवाह, दहेज और सती प्रथा जैसी कुप्रथाओं को खत्म कर दिया उसी तरह मुस्लिमों को भी तीन तलाक की व्‍यवस्‍था को खत्‍म करना चाहिए.

उन्होंने कहा कि समय आ चुका है कि मुस्लिम समाज आत्‍ममंथन करे और अपनी महिलाओं को न्‍याय देने के लिए ट्रिपल तलाक को त्याग दे. नायडू ने कहा, सभी जानते हैं कि तीन तलाक की इजाजत नहीं है, लेकिन फिर भी कुछ लोग हैं जो मुस्लिम महिलाओं के साथ अन्‍याय कर रहे हैं. यही सही वक्त है जब मुस्लिम समाज को अपनी महिलाओं को न्‍याय देने के लिए तीन तलाक पर स्वस्थ बहस करनी चाहिए और बदलाव से गुजरना चाहिए.’

केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा, जैसे हिंदू समाज इतना बदला, हमने बाल विवाह, दहेज, सती को खत्‍म किया. मुझे विश्‍वास है कि इस मुद्दे (ट्रिपल तलाक) पर मुस्लिम समुदाय में स्‍वस्‍थ चर्चा होगी और वे कोई न कोई हल निकालेंगे.”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

गौरतलब रहें कि तीन तलाक का मुद्दा सुप्रीम कोर्ट के समक्ष हैं. जिस पर प्रधान न्यायाधीश गर्मिर्यों की छुट्टियों में एक संविधान पीठ सुनवाई करेगी. इस मामले की अगली सुनवाई 11 मई को होने वाली है.

Loading...