sidh

बेंगलुरु. कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने शुक्रवार को हासन की रैली में कहा कि भले ही मैंने पिछला चुनाव गंवा दिया, लेकिन यह अंत नहीं है। मुझे भरोसा है कि आपके आशीर्वाद से दोबारा मुख्यमंत्री बनूंगा। सिद्धारमैया के इस बयान से कर्नाटक की राजनीति में भूचाल आ गया है।

सिद्धारमैया ने कहा, ”विधानसभा चुनाव में सभी विरोधी मेरे खिलाफ साथ आ गए थे ताकि मैं दूसरी बार मुख्यमंत्री न बन पाऊं। राजनीति में हार-जीत चलती रहती है, लेकिन आजकल जाति और पैसा हावी हो रहा है।” बता दें कि मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने शनिवार को कहा कि 3 सितंबर को राज्य में नए मुख्यमंत्री शपथ ले सकते हैं।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सिद्धारमैया के बयान पर कुमारस्वामी ने न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत में कहा, ‘3 सितंबर को नए मुख्यमंत्री शपथ लेंगे। ये महत्वपूर्ण नहीं है कि मैं कितने समय के लिए मुख्यमंत्री रहूं। मेरे लिए महत्वपूर्ण यह है कि मैं जितने दिन भी रहूं अपने काम से अपना भविष्य सुरक्षित करूं।’

इसके अलावा जेडीएस के प्रवक्ता दानिश अली ने कहा कि कर्नाटक में मुख्यमंत्री पद की कुर्सी दोनों दलों के गठबंधन के तहत पांच सालों के लिए आरक्षित है। भारत में हर शख्स को सीएम और पीएम बनने की पूरी आजादी है। सिद्धारमैया जी जो बात कह रहे हैं उसमें कोई खामी नहीं है।

दानिश अली ने कहा, ‘सिद्धारमैया के बयान से मैं सहमत हूं। वह पांच साल बाद कर्नाटक के मुख्यमंत्री बन सकते हैं।एचडी कुमारस्वामी के नेतृत्व में कर्नाटक में सरकार अपने पांच साल पूरे करेंगी।’

कर्नाटक विधानसभा

कुल सीटें: 224 (बहुमत 113)

पार्टी सीटें
भाजपा 104
कांग्रेस 79
जेडीएस 36
अन्य 05
Loading...