Sunday, September 19, 2021

 

 

 

हिन्दू तलाक दे तो कोई जुर्म नहीं, लेकिन मुसलमान दे तो तीन साल की सज़ा: आजम खान

- Advertisement -
- Advertisement -

लखनऊः समाजवादी पार्टी के वरीष्ठ नेता आजम खान ने पार्कों में नमाज पढ़ने की पाबंदी पर कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि अगर कोई नियम मुसलमानों के लिए बनते हैं, तो वो हिन्दुओं पर भी लागू होने चाहिए।

उन्होने कहा, अगर सरकार को मुसलमानों के नमाज पढ़ने से एतराज है तो संघ की शाखाओं पर भी वो पाबंदी लागू होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सड़कों पर जो धार्मिक कार्यक्रम होते हैं उन्हें भी बंद करना चाहिए। अकेले मुसलमानों पर ही पाबंदी क्यों हो।

सपा नेता ने तीन तलाक पर बोलते हुए कहा कि अगर हिन्दू अपनी पत्नी को तलाक दे तो कोई जुर्म नहीं, इसाई तलाक दे कोई जुर्म नहीं, बस मुसलमान तलाक दे तो 3 साल की कैद। यह कैसा भारत महान बनाया जा रहा है यह कैसे संविधान और कानून का हिंदुस्तान बनाया जा रहा है।

उन्होने कहा, सिर्फ मुसलमानों से नफरत में, पूरे मुल्क को बर्बादी के किनारे पर ले जाकर खड़ा कर दिया है इन लोगों ने।

आजम खान ने सीएम योगी द्वारा गो कल्याण टैक्स लगाने पर कहा “ये सरकार क्योंकि हर फिल्ड में बुरी तरह से नाकाम हो गई है। टोटल फेलियर ऑफ सेंट्रल गवर्नमेंट, टोटल फेलियर ऑफ स्टेट गवर्नमेंट, तो यह सिर्फ अहमकाना कदम है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles