नई दिल्ली: गुजरात के पाटीदार समुदाय के नेता हार्दिक पटेल जल्दी ही कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं और राज्य के जामनगर लोकसभा क्षेत्र से उनके आम चुनाव लड़ने की भी संभावना है. कांग्रेस पार्टी के शीर्ष पदस्थ सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी.

बताया जा रहा है कि हार्दिक पटेल 12 मार्च को अहमदाबाद में कांग्रेस कार्य समिति की बैठक के दौरान पार्टी में शामिल होंगे। इस बैठक में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी भी मौजूद रहेंगे. जिस जामनगर सीट से हार्दिक लोकसभा चुनाव में किस्मत आजमाना चाहते हैं वहां से फिलहाल भारतीय जनता पार्टी की नेता पूनमबेन मादम सांसद हैं.

गुजरात की जामनगर संसदीय सीट कई कारणों से विशेष सीट बन गई है. सबसे बड़ी वजह है यहां विश्वप्रसिद्ध उद्योगपति मुकेश अंबानी का बहुत बड़ा रिलायंस पेट्रोलियम प्लांट. इस ससंदीय सीट के अन्तर्गत 7 विधानसभा सीटें हैं. इस ससंदीय सीट पर 1989 से 99 के दौरान हुए पांच लोकसभा चुनावों में भाजपा के चन्द्रेश पटेल कोरडिया जीते थे. 2004 और 2009 के लोकसभा चुनावों में कांग्रेस के अहीर विक्रमभाई अर्जनभाई माडम जीते थे.

गुजरात के वरिष्ठ पत्रकार डा.हरि देसाई का कहना है कि 2014 में विक्रमभाई माडम के विरुद्ध उनकी भतीजी पूनमबेन हेमतभाई माडम को रिलायंस के पदाधिकारी व झारखंड से राज्ससभा सांसद परिमल नथानी ने भाजपा से टिकट दिलवाकर चुनाव लड़वाकर जितवाया. केन्द्र में कांग्रेस की 10 साल सत्ता विरोधी लहर और रिलायंस के परिमल नथानी की मदद से पूनमबेन माडम 2014 का चुनाव 1,75,289 मतों से जीतीं.

इस संसदीय क्षेत्र में यादव मतदाताओं की संख्या अच्छी है. लेउवा व कड़वा पटेल मतदाता भी प्रभावी हैं. यदि हार्दिक पटेल यहां से लड़ते हैं, तो उनको लेऊवा व कड़वा पटेल एकजुट होकर वोट दे सकते हैं और हार्दिक सीट निकाल सकते हैं. हालांकि उनको हराने के लिए सत्ताधारी पार्टी व उसके चहेते सेठ एड़ी-चोटी का जोर लगा देंगे.