hard

पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने शनिवार को कहा कि गुजरात चुनाव के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात न कर पाना उनकी सबसे बड़ी भूल थी. उन्होंने दावा किया कि उनकी राहुल गांधी से मुलाक़ात हो जाती तो भाजपा चुनाव नहीं जीत पाती.

इंडिया टुडे के कॉन्क्लेव में उन्होंने कहा, ‘‘ मैंने पहले भी कहा है और अब भी कह रहा हूं. मैं राहुल गांधी से नहीं मिला. यदि मैं ममता बनर्जी, नीतीश कुमार और( शिवसेना अध्यक्ष) उद्धव ठाकरे से खुलेआम मिल सकता हूं तो राहुल गांधी से मिलने मे कोई दिक्कत( मुद्दा) नहीं थी.’’ उन्होंने कहा, ‘‘ यह भूल थी. यदि मैं उनसे मिला होता तो भाजपा 99 नहीं 79 सीटें जीतती.’’

हार्दिक ने कहा, ‘‘ जब नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार थे, तब हमने भी उन्हें वोट दिया था. हमने सोचा था कि इस देश के युवाओं को रोजगार मिलेगा. इस देश के किसानों को अपनी उपज का उचित दाम मिलेगा लेकिन ये चीजें नहीं हुईं.’’

rahu1

गौरतलब है कि दिसंबर 2017 में हुए गुजरात विधानसभा चुनाव में 182 में से 99 सीटें मिली थीं और वह अपनी सत्ता बरकरार रखने में कामयाब हुई थी. वहीं, हफ्तों की खींचतान के बाद हार्दिक ने कांग्रेस को चुनाव में समर्थन देने की घोषणा की थी.

हार्दिक पटेल ने नवंबर के अंत में घोषणा की थी कि उनकी पाटीदार अनामत आंदोलन समिति गुजरात चुनाव में कांग्रेस का समर्थन करेगी. कांग्रेस ने पटेलों के लिए आरक्षण की समिति की मांग मान ली थी.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें