जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने धारा-370 को लेकर एक बार फिर से केंद्र सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि कश्मीरियों को उनकी जगहों से निकाला जा रहा है और बाहर के लोगों को यहां बसाया जा रहा है।

सोमवार को बीजेपी पर निशाना साधते हुए महबूबा ने कहा कि केंद्र सरकार ऐसी साजिश कर रही है, जिससे कि जम्मू-कश्मीर की डेमोग्राफी बदल दी जाए। उन्होने कहा कि 370 के बहाने केंद्र सरकार कश्मीर के मुसलमानों की जमीन हड़पना चाहती है। जम्मू कश्मीर की जमीन अपने पूंजीपति समर्थकों को बेचने जा रही है।

दक्षिण कश्मीर के पहलगाम के जंगलो में रहने वाले गुज्जर और बकरवाल समुदाय से मिलने पहुंची महबूबा ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर केंद्र सरकार ने गुज्जर और बकरवाल समुदाय को निशाना बनाना नहीं छोड़ा तो आशंका है कि यह लोग अमन और शांति की रह छोड़ कर हिंसा का हाथ ना थाम लें।

बता दें कि पिछले दिनों गुज्जर और बकरवाल समुदाय के कोठार को वन विभाग ने तहस नहस कर दिया था। केंद्र सरकार का कहना है कि यह लोग अवैध तरीके से जंगलो की ज़मीन पर कब्जा करके रह रहे हैं और इस अवैध कब्ज़े को हटाया जा रहा है। जबकि समुदाय का कहना है कि उनके परिवार पिछले 100 सालों से इन जंगलों में रहते आए हैं।

मुफ्ती ने कहा है, सरकार जम्मू कश्मीर की जमीन की बिक्री करना चाहती है। पहले ही सरकार 24 हजार कनाल जमीन इंडस्ट्री को दे चुकी है। अब सरकार जंगलों से यहां के स्थानीय लोगों को खदेड़ कर और जमीन बड़े उद्योगपतियों को देना चाहती है, जिनसे इन्हें फंड्स मिलते हैं।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano