rmm

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा है कि कश्मीर में पाकिस्तान कोई मुद्दा नहीं है। जब मैं वहां गया तो वहां की असल समस्या से रूबरू हुआ। जम्मू में भ्रष्टाचार चरम पर है। अब तक जितना पैसा केंद्र से जम्मू-कश्मीर के लिए गया, यदि उसका सही इस्तेमाल हुआ होता तो आज कश्मीर सोने का होता।

पटना विश्वविद्यालय में न्यू इनसेंटिव इन जम्मू-कश्मीर विषय पर आयोजित स्पेशल लेक्चर कार्यक्रम में सत्यपाल मलिक ने कहा कि शाम के 6 बजे के बाद कश्मीर में युवाओं के पास कोई काम नहीं है। कश्मीर की बड़ी समस्या अगर है तो वो है भाई-भतीजावाद और सिफारिश। उन्होंने जम्मू-कश्मीर की तमाम समस्याओं को समारोह में मौजूद युवाओं के सामने रखा।

मलिक ने हाल ही में रिलायंस के टेंडर को कैंसिल करने पर कहा कि पूरे सूबे में मैंने बड़ा खतरा उठाया है, ताकि भ्रष्टाचार खत्म कर सकूं। अब राज्य में बिना भ्रष्टाचार और भेदभाव के सभी निवेशकों को मौका मिलेगा, ताकि राज्य का संपूर्ण विकास हो सके।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मलिक ने दावा किया कि आतंकवाद के खिलाफ जंग को विकास के जरिये जीतने कि कोशिश होगी। जम्मू-कश्मीर में पंचायत के सभी गांवों को डेढ़ करोड़ रुपये विकास के लिए दिए जाएंगे। पूरे राज्य में पंचायती राज व्यवस्था को सही तरीके से लागू किया जाएगा।

मलिक ने कहा कि वैसे युवा जिन्होंने बेरोजगारी के कारण हथियार उठाया है। समाज की मुख्य धारा से जुड़ जाएं इसके लिए मैंने गृहमंत्री राजनाथ सिंह से बात की है। जल्द वहां इंटरनेशनल स्टेडियम बनवाया जाएगा ताकि आईपीएल के मैच हो सकें। युवाओं के हाथों में पत्थर की जगह क्रिकेट की गेंद होगी।

Loading...