मुरादाबाद: ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (एमआईएमआईएम) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने केंद्र की मोदी सरकार पर देश की सीमाओं की हिफाजत करने वाले जवानों के साथ नाइंसाफी करने का आरोप लगाते हुए कहा कि उनकी आवाज को दबाने के बजाय उनकी समस्याओं का समाधान किया जाए.

उन्होंने कहा कि जवान तेज बहादुर ने सोशल मीडिया पर अपना वीडियो डालकर अपनी तकलीफ का इज़हार किया है. सरकार को संजीदगी के साथ उसकी तकलीफ को सुनने और समझने की ज़रूरत है. उसके खिलाफ झूठे इल्ज़ाम लगा कर उसे बदनाम नहीं किया जाए, बल्कि उसकी तमाम चीजों को देखकर भ्रष्टाचार का खत्मा करें.

ओवैसी ने आगे कहा कि मोदी को समझना चाहिए की नोटबंदी से पैरा मिलिट्री फ़ोर्स में करप्शन ख़त्म नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि जब हम 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाएंगे, वहां जाकर किसी भी जवान से पूछ लेना वो भी प्राइवेट में कपड़े सिलवाते हैं सरकार उनकी कोई मदद नहीं करती है.

उन्होंने कहा कि सरकार को चाहिए कि हमारे सेना और पैरा मिलिट्री के जवानों की समस्याओं पर गंभीरता से विचार करे और उनकी तकलीफो का हल निकाले.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें