समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान ने केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकार की और से राम मंदिर निर्माण को लेकर की जा रही राजनीति पर तीखा हमला बोला है.

आजम ने कहा कि अयोध्या में मंदिर के निर्माण का राग अलापने के बजाय सरकार बेरोजगारों को राहत की बात करे तो बेहतर होगा. उन्होंने कहा, सरकार अयोध्या में मंदिर बनाने को लेकर राग अलाप रही है. बजाय इसके बेरोजगारों को रोजगार देने के बारे में सोचा जाए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि 6 दिसंबर 1992 की शर्मनाक घटना के बाद अब मंदिर का राग अलापने की क्या आवश्यकता रह गई है. सरकार गरीबों, बेरोजगारों के बारे में सोचे तो बेहतर होगा. सपा नेता ने कहा कि यदि ताजमहल गुलामी का प्रतीक है तो मुख्यमंत्री उसे तोड़ने की पहल करें, मैं स्वयं अपने समर्थकों के साथ उनके साथ चलने को तैयार हूं.

इसी के साथ आजम ने मोहन भागवत के सेना और संघ के संदर्भ में दिए बयान पर भी तंज कसा है. उन्होंने पूछा कि भागवत जी तीन दिन में जो आर्मी तैयार करेंगे, क्या उसके पास वह हथियार हैं, जो दुश्मन के पास हैं? उन्होंने कहा कि इससे देश में भी डर पैदा होगा कि एक प्राइवेट आर्मी हो गई है. आजम ने कहा कि जिसकी सरकार उसका संविधान. सरकार के कंट्रोल में आर्मी होती है, अब सरकार के पास डबल आर्मी हो गई है.

Loading...