goaa

मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की अनुपस्थिति में गोवा में राजनीतिक उठापटक शुरू हो गई है। कांग्रेस ने सूबे में सरकार न होने की बात कहते हुए गवर्नर से सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करने की मांग की है।

जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस के 14 विधायक सोमवार को राज्यपाल मृदुला सिन्हा से मिलने राजभवन पहुंचे थे। हालांकि राज्यपाल के वहां मौजूद नहीं होने के कारण कांग्रेस नेताओं की उनसे मुलाकात नहीं हो सकी। इस बीच कांग्रेस नेता सरकार बनाने का दावा पेश करने वाली चिट्ठी वहीं छोड़कर लौट आए हैं।

गोवा में कांग्रेस विधायक दल के प्रमुख चंद्रकांत कवलेकर ने बताया कि उन्होंने हमने दो ज्ञापन सौंपे हैं। लोगों ने पांच साल के लिए सरकार चुनी थी, लेकिन अगर मौजूदा सरकार काम करने में सक्षम नहीं, तो हमें मौका मिलना चाहिए। हम सरकार चला लेंगे।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

कवलेकर ने साथ ही कहा, ‘राज्य में हम सबसे बड़ी पार्टी हैं। ऐसे में पहले ही हमें मौका मिलना चाहिए था। आप ही देखिये आज सरकार कैसे काम कर रही है। सरकार होते हुए भी न के बराबर है। हमारे पास संख्या बल है, इसलिए हम दावा कर रहे हैं। गवर्नर कल यहां होंगी। हम इसके लिए अनुरोध करेंगे।’

बता दें कि 40 सदस्यीय गोवा विधानसभा में बीजेपी के पास फिलहाल 14 विधायक हैं। इसके अलावा उसे महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी (एमजीपी) के 3, गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी) के 3 और 3 निर्दलीय विधायकों का समर्थन हासिल है। वहीं, कांग्रेस और एनसीपी के पास 17 विधायक हैं।

Loading...