धारा 370 हटने के बाद पहली बार श्रीनगर पहुंचे कांग्रेस सांसद और राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद को एयरपोर्ट पर ही रोक लिया गया। इस दौरान उनके साथ कश्मीर के कांग्रेस अध्यक्ष गुलाम अहमद मीर भी थे। दोनों को वापस दिल्ली भेज दिया गया।

इस दौरान आजाद ने शोपियां में स्थानीय लोगों के साथ राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल की मुलाकात पर अजीब बयान दिया है। मीडिया से बातचीत में आजाद ने कहा कि ‘पैसे देकर आप किसी को भी साथ ले सकते हो।’ आजाद गुरुवार सुबह दिल्ली से श्रीनगर पहुंचे।

श्रीनगर पहुंचने पर उन्होंने कहा, ‘संसद सत्र के बाद मैं हमेशा कश्मीर जाता हूं। मैंने इसके लिए किसी से इजाजत नहीं ली है। मैं वहां कष्ट एवं संकट में मौजूद लोगों से मिलने जा रहा हूं।’  घाटी के मुख्य धारा के नेता उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती गिरफ्तार हैं।

कश्मीर के लिए रवाना होने से पहले आजाद ने सरकार के कदम पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा, ‘जम्मू-कश्मीर के लोग नाराज हैं। वहां इंटरनेट और वाट्सएप नहीं चल रहा है। वाहनों की आवाजाही नहीं है। यह पहला राज्य है जहां कर्फ्यू लगाने के बाद कानून पारित किया गया है।’ बता दें कि कांग्रेस ने मंगलवार को एक प्रस्ताव पारित किया जिसमें कहा गया है कि अनुच्छेद 370 जिस अलोकतांत्रिक तरीके से खत्म किया गया है, पार्टी उसका विरोध करती है।

दरअसल हाल ही में अजित डोभाल का एक वीडियो सामने आया था, जिसमें वो जम्मू-कश्मीर में आम लोगों के साथ सड़क पर खाना खाते नजर आ रहे थे। गुलाम नबी आजाद ने इसी वीडियो को लेकर डोभाल पर निशाना साधा है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन