दिल्ली हिंसा की वजह से होली नहीं मनाएंगे गौतम गंभीर, बोले – पीड़ितों की मदद का समय

भाजपा सांसद और पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने दिल्ली हिंसा (Delhi Riots) की वजह से होली का त्योहार मनाने से मना करते हुए कहा कि यह समय पीड़ितों की मदद करने का है।

गंभीर ने एक प्रेस रिलीज जारी कर कहा, “होली मनाने के लिए मेरे निर्वाचन क्षेत्र के आरडब्ल्यूए और कॉलेजों से मुझे कई निमंत्रण मिले हैं। मैं उन सबका आभारी भी हूं, मगर यह जश्न मनाने का नहीं, बल्कि पीड़ितों की मदद करने का समय है।” बता दें कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली हिंसा में 54 लोगों की मौत हो चुकी है। अभी भी अस्पतालों में सैकड़ों घायल लोग भर्ती हैं।

इससे पहले उन्होने दिल्ली हिंसा को लेकर बीजेपी नेता कपिल मिश्रा पर भड़काऊ बयान देने को लेकर कार्रवाई की मांग की थी। गंभीर ने कहा कि कपिल मिश्रा हों या किसी भी पार्टी के नेता, जिन्होंने भड़काने वाला भाषण दिया है, उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।

समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में गौतम गंभीर ने कहा कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वह इंसान कौन है, चाहे वह कपिल मिश्रा हो या कोई भी, किसी भी पार्टी से संबंधित हो, अगर उसने कोई भड़काऊ भाषण दिया है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए।

गौतम गंभीर ने आगे कहा कि मैं यह कभी बर्दास्त नहीं करूंगा कि लोगों को उकसाने के लिए भाषण दिए जाएं। यहा कोई अपना-पराया नहीं है, आप किसे उकसा रहे हैं? हमें स्थिति को संभालने की जरूरत है। अगर आप वर्दी वाले लोगों के साथ ऐसा बर्ताव करेंगे तो फिर आम आदमी खुद को कैसे सुरक्षित महसूस करेगा? जिन लोगों ने यह किया है उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।

विज्ञापन