सपा नेता आजम खान ने कहा कि यूपी के चार नकवी नेता मुस्लिम क़ौम को बांटना चाहते हैं. उन्होंने इन चारों नकवी नेताओं को चोर भी करार दिया.

उन्होंने कहा, पहले मुख़्तार अब्बास नकवी, दुसरे मोहसिन रजा नक़वी, तीसरे कल्बे जव्वाद नक़वी और चौथे ऐजाज़ अब्बास नकवी हैं. ये सभी नक़वी साहेबान मुस्लिम क़ौम में बंटवारा करवाना चाहते हैं. ये चार नक़वी साहब हैं जो मेरे बच्चों का स्कूल बंद कराना चाहते हैं. इन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करूंगा इंशाल्लाह.

आजम खान ने आगे कहा, ये लोग मुसलमानों को और इंसानियत को बांटना चाहते हैं. ये नक़वी लोग हमारे बच्चों को अनपढ़ रखना चाहते हैं. मेरे बच्चे के स्कूलों की तरफ और मेरी यूनिवर्सिटी की तरफ जिन नक़वी साहेबान ने आंख उठायी है, उन्हें छोडूंगा नहीं. ये मुस्लिम क़ौम में अंग्रेजों के ख़िलाफ़ लड़ाई के मीर जाफर और मीर सादिक़ हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वक़्फ़ की संपत्ति को लेकर मोहसिन रज़ा नक़वी द्वारा लगाये गए भ्रष्टाचार के आरोपों पर उन्होंने कहा, मोहसिन रजा नक़वी एक हादसे के नतीजे में मंत्री बन गए हैं उनको पता ही नहीं कि मंत्री का काम कैसे होता है, मंत्री किन फाइलों पर दस्तखत करता है. उन्होंने कहा, वक़्फ़ के मंत्री का कोई रोल नहीं होता. जांच होगी तो शिया और सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड की होगी. जिस शख्स को यही नहीं मालूम की शिया वक़्फ़ और सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड की कोई भी फाइल मंत्री तक आती ही नहीं, जिस मंत्री को इतना भी न पता हो उसके बारे में क्या कहूं.

आजम खान ने जांच को लेकर बोला कि सीबीआई से नहीं, इंटरनेशनल एजेंसी से जांच कराएं. मौलाना कल्बे जव्वाद के सहारनपुर में वक़्फ़ की 400 करोड़ की संपत्ति में हेरफेर के आरोप पर उन्होंने कहा, कल्बे जव्वाद अपने दामाद को वक़्फ़ बोर्ड का चेयरमैन बनवाना चाहते थे. मैंने मना कर दिया. उसी का बदला निकाल रहे हैं.

Loading...