महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए बीते दिनों से जारी कांग्रेस और एनसीपी के बीच बैठकों कुछ नतीजा निकलता नजर आ रहा। दरअसल इन बैठकों के बाद कांग्रेस नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा कि सूबे में सरकार बनाने को लेकर कांग्रेस और एनसीपी के बीच सभी मुद्दों पर सहमति बन गई है।

इसी के साथ शिवसेना (Shiv Sena), एनसीपी (NCP) और कांग्रेस (Congress) के नेताओं ने कॉमन मिनिमम प्रोग्राम (CMP) पर हस्ताक्षर कर दिए हैं। इसके अलावा एक समन्वय समिति का निर्माण भी किया जा रहा है जो सरकार के कामकाज पर नजर रखेगी। इस दौरान यह बताया जा रहा है कि कांग्रेस को विधानसभा अध्यक्ष और डिप्टी सीएम के पद मिलेंगे।

सूत्रों के अनुसार तीनों पार्टियों के इस गठबंधन का नाम महा विकास आघाडी होगा. इससे पहले शिवसेना ने गठबंधन का नाम महा‌ शिव आघाडी सुझाया था लेकिन कांग्रेस और एनसीपी दोनों ही इस नाम को लेकर सहमत नहीं थे। दोनों ही पार्टियां ये नहीं चाहती थीं कि गठबंधन में किसी भी पार्टी के नाम को शामिल किया जाए।

electon

वहीं शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा है कि शनिवार को तीनों दलों के नेता विधायकों के समर्थन की चिट्ठी राज्यपाल को सौंपेंगे, संजय राउत ने कहा है कि इसके लिए राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलने का समय मांगा जाएगा। हालांकि संजय राउत ने यह बयान ऑफ कैमरा दिया है।

संजय राउत ने जो बयान दिया है उसके मुताबिक गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी को विधायकों के समर्थन की जो चिट्ठी सौंपी जाएगी उसपर सभी विधायकों के हस्ताक्षर होंगे। संजय राउत ने यह भी बताया कि ढाई-ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री का पद बांटे जाने के मुद्दे पर अभी चर्चा नहीं हुई है लेकिन यह बड़ा मुद्दा नहीं है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन