Sunday, October 24, 2021

 

 

 

फोन टैपिंग मामले में सचिन पायलट के मीडिया मैनेजर सहित पत्रकार के खिलाफ एफआईआर

- Advertisement -
- Advertisement -

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच चले सियासी संग्राम को फिर से हवा लग सकती है। दरअसल, पुलिस ने सचिन पायलट के मीडिया सलाहकार लोकेंद्र सिंह सहित आजतक न्यूज चैनल के साथ काम करने वाले राजस्थान के वरिष्ठ पत्रकार शरत कुमार के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। इन पर ‘कांग्रेस विधायकों के फोन टैपिंग’ की आरोप है।

जयपुर पुलिस कमिश्नरेट में तैनात साइबर पुलिस थाना अधिकारी ने दोनों के खिलाफ पुलिस की छवि खराब करने का आरोप लगाया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। जयपुर के विधायक पुरी पुलिस स्टेशन में धारा 505 (1) (जो कोई भी बयान, अफवाह या रिपोर्ट बनाता है, प्रकाशित करता है या प्रसारित करता है), 505 (2) (बयान, दुश्मनी, घृणा या उत्पीड़न को बढ़ावा देने या कक्षाओं के बीच प्रचारित करेगा) के तहत दर्ज किया गया।

विधायक पुरी थाने के एसएचओ और जांच अधिकारी ने आउटलुक को बताया, “पुलिस ने गुरुवार को लोकेंद्र सिंह को अपने गैजेट्स (लैपटॉप, मोबाइल और कंप्यूटर) के साथ थाने में तलब किया है, जिसका उपयोग ‘फोन टैपिंग रिपोर्ट’ के सूचना प्रसार के लिए किया गया।

वहीं आजतक के वरिष्ठ पत्रकार शरत कुमार, जिनका नाम एफआईआर में लिया गया है, ने आउटलुक को बताया, “मैं ‘फोन टैपिंग स्टोरी’ की रिपोर्ट करने वाला आखिरी व्यक्ति नहीं था। मेरे ज्यादातर साथियों ने यह स्टोरी कवर की थी। मैं यह समझने में विफल हूं कि सरकार ने विशेष रूप से एक मीडिया हाउस को क्यों टारगेट किया है”।

गौरतलब है कि इसी तरह सचिन पायलट को नोटिस देने के लिए स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस में मामला दर्ज होने के बाद गहलोत व पायलट के बीच फिर विवाद बढ़ सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles