kirti

भाजपा के निलंबित सांसद कीर्ति झा आजाद ने एक बार फिर से वित्त मंत्री अरुण जेटली पर हमला किया हैं. इस बार उन्होंने जेटली को संपत्ति के आधार पर निशाना बनाते हुए कहा कि वित्तमंत्री अरुण जेठली की संपति की जांच होनी चाहिए. पिछले दो वर्ष के दरमियान उनकी संपत्ति में 144 करोड़ रुपये का इजाफा हुआ है.

उन्होंने आगे कहा कि डीडीसीए की जांच में अगर अरुण जेठली दोषी साबित नहीं हुए तो वे अपनी मूंछें मुडवा लेंगे. उन्होंने कहा कि बैंकों की मिलीभगत से करोड़ों रुपये की हेराफेरी हुई, इसका जवाब तो देना होगा. साथ ही उन्होंने जेटली को  अब तक का सबसे अक्षम वित्तमंत्री बताते हुए कहा कि मुझे लगता है एक वकील को कभी भी वित्त मंत्रालय का प्रभार नहीं सौंपना चाहिए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नोटबंदी के फैसले को सही बताते हुए कहा कि पीएम का फैसला सही हैं, लेकिन नोटबंदी को सही ढ़ग से देश में लागू नहीं किया गया. उन्होंने कहा कि वित्तमंत्री की अक्षमता के कारण देश की ऐसी हालत बनी हैं. उन्होंने कहा कि इसके कारण बेरोजगारी बढ़ रही है, बाजार में सन्नाटा पसरा हुआ हैं.

इसके अलावा उन्होंने अरुण जेटली को वित्त मंत्री के पद से हटाने की मांग करते हुए कहा कि सरकार को तत्काल इन्हें पद से हटा देना चाहिए। इनकी जगह किसी योग्य आदमी को वित्त विभाग का दायित्व सौंपा जाना चाहिए.

Loading...