फारुख अब्‍दुल्‍ला ने पुलवामा हमले पर शक जताया, ‘मिशन शक्ति’ को बताया मनमोहन की उपलब्धि

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारुक अब्दुल्ला ने पुलवामा हमले में मारे गए जवानों की संख्या पर सवाल उठाया। साथ ही उन्होने मिशन शक्ति को पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन की उपलब्धि करार दिया।

एक कार्यक्रम में फारुक अब्दुल्ला ने कहा, ‘छत्तीसगढ़ में हिंदुस्तान के कितने जवान शहीद हुए? क्या मोदी जी कभी उन पर फूल चढ़ाने गए? मगर वे 40 लोग सीआरपीएफ के शहीद हो गए, मुझे उसका भी शक है।’

उन्होंने मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि, ‘वह मिसाइल जो उसने सैटलाइट को मारने के लिए छोड़ा था, वह मनमोहन सिंह ने तैयार किया था। पर, चुनाव में दिखाने के लिए, हनुमान जी तशरीफ लाए हैं, उसने बटन दबाया। एक बटन गलत दब गया और हेलिकॉप्टर गिर गया और हमारे 6 जवान शहीद हो गए।’

फारूक अब्दुल्ला यहीं नहीं रुके उन्होंने आगे कहा कि वो मिसाइले जो उसने सैटेलाईट को मारने के लिए छोड़ा, वो मनमोहन सिंह ने तैयार किया था। आज चुनाव था, दिखाने के लिए ‘हनुमान जी तशरीफ़ लाये हैं’ उसने बटन दबाया। एक बटन गलत दब गया और हेलिकोप्टर गिर गया और हमारे 6 जवान शहीद हो गए।

बता दें कि फारूक अब्दुल्ला ने श्रीनगर लोकसभा सीट से अपना नामांकन दाखिल किया है। इस सीट पर आम चुनाव के दूसरे चरण में 18 अप्रैल को मतदान होगा। पूर्व मुख्यमंत्री ने नामांकन भरने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए देश में ‘‘सांप्रदायिक ताकतों’’ से लड़ने का संकल्प लिया।

उन्होंने कहा, ‘‘ मैं अब भी जवान हूं और अभी मुझे बहुत काम करना है। हमें अपने देश को सांप्रदायिक ताकतों से बचाना है। हमारी लड़ाई सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ है।’’ श्रीनगर लोकसभा सीट का विस्तार तीन जिलों श्रीनगर, बडगाम और गंदेरबल में है और इस सीट पर 12,90,318 मतदाता हैं।

विज्ञापन