बुलंदशहर घटना को फारुक अब्दुल्ला ने बताया त्रासदी, कहा – पुलिस अधिकारी को टारगेट किया गया

6:38 pm Published by:-Hindi News

बुलंदशहर में हुई हिंसा पर नेशनल कांफ्रेस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने सवाल खड़े किए है। उन्होने इस पूरी घटना को प्रायोजित करार देते हुए त्रासदी बताया। उन्होने कहा कि पुलिस अधिकारी सुबोध कुमार को प्लानिंग के तहत टार्गेट किया गया।

अब्दुल्ला ने कहा, “मुझे लगता है कि यह एक बड़ी त्रासदी है जहां पुलिस अधिकारी को भीड़ द्वारा टारगेट किया गया है, पूरा मामला एक योजना के तहत हुआ ताकि उसे टारगेट किया जाए। क्योंकि वह लोगों के अच्छे के लिए काम कर रहा था। इसी बीच बुलंदशहर हिंसा के मामले में फरार मुख्य आरोपी योगेश राज ने अपना एक वीडियो जारी किया है। योगेश ने इस वीडियो में खुद को बेकसूर बताया है।

आरोपी योगेश ने अपने इस वीडियो में कहा, ‘जैसा कि आप बुलंदशहर स्याना में गोकशी प्रकरण को आप देख रहे होंगे। प्रकरण में पुलिस मुझे ऐसे पेश कर रही है जैसे मेरी बहुत बड़ा आपराधिक प्रवृति की रही हो। आप सब लोगों को यह बताना चाहता हूं कि उस दिन दो घटना हुई पहली स्याना के नजदीक गांव में हुई गोकशी की जिसकी सूचना देने के लिए हम स्याना थाने में अपना मुकदमा लिखाने गए और वहां बैठे ही थे कि हमें पता चला कि उक्त स्थल पर ग्रामीणों ने पथराव किया है जिसमें गोलीबारी हुई और इसमें एक युवक तथा एक पुलिसकर्मी को गोली लगी। दूसरी घटना से मेरा कोई लेना-देना नहीं है।’

yoge

बता दें कि पुलिस ने इस मामले में 87 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है, जिनमें से 27 नामजद हैं और 60 अज्ञात। कुछ आरोपी बजरंग दल, भाजपा और विहिप जैसे संगठनों से जुड़े हैं। मुख्य आरोपी बजरंग दल का जिला संयोजक योगेश राज है। स्याना में भाजपा यूथ विंग का अध्यक्ष शिखर अग्रवाल और विहिप कार्यकर्ता उपेंद्र राघव भी नामजद हैं। यह सभी फरार हैं।

एडीजी मेरठ जोन प्रशांत कुमार ने बताया कि बुलंदशहर हिंसा के मामले में दो लोगों को हिरासत में लिया गया है। हिंसा की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें