बीएमसी चुनाव अलग लड़ने के ऐलान के बाद से शिवसेना और बीजेपी में चुनावी जुबानी जंग तेज हो गई हैं. दोनों ही पार्टियों ने एक-दुसरे पर आक्रामक रुख अपनाया हुआ हैं.

पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने महाराष्ट्र की सीएम देवेंद्र फडणवीस पर हमला बोलते हुए कहा कि खुद को कृष्ण कहने से कोई कृष्ण नहीं हो जाता है. वहीँ भाजपा ने उद्धव ठाकरे की तुलना महाभारत के दुर्योधन से की है. मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि यदि धर्मयुद्ध के लिए लड़ना है तो लडे़ंगे.

फडणवीस ने कहा कि शिवसेना के साथ हमारा नाता हिंदुत्व के आधार पर हुआ था. लेकिन भगवा झंडे के नीचे रहकर किसी को हप्ता वसूली की अनुमति नहीं दी जाएगी. उन्होंने कहा कि पारदर्शिता की शर्त शिवसेना को मंजूर नहीं है. इसलिए उन्होंने एक झटके में गठबंधन नहीं करने का एलान कर दिया. फडणवीस ने कहा कि 2014 के विधानसभा चुनाव में भी शिवसेना ने इसी प्रकार का अहंकार दिखाया था. अच्छा हुआ गठबंधन टूट गया और मुझे मुख्यमंत्री बनने का अवसर मिला. उन्होंने कहा कि शिवसेना सदैव दोहरी भूमिका निभाती है.

ठाकरे ने इस पर कहा कि वह हमें गुंडे कैसे कह सकते है, खुद उनके आसपास गुंडे बैठते हैं. उन्होंने उत्तर प्रदेश चुनाव के लिए बीजेपी के घोषणापत्र पर हमला बोला. ठाकरे ने कहा कि बाबरी के बाद जो भगदड़ हुई थी वह भागे हुए लोग अब एक साथ आ रहे हैं. ठाकरे ने कहा कि मंदिर वही बनाएंगे लेकिन यह नहीं बताएंगे कहा बनाएंगे. जो इंटें राम मंदिर के लिए लाई गई थी उसे खोज रहे हैं क्या. वो इंटे मिलने के बाद राम मंदिर के निर्माण का काम शुरू होगा


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें