पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर चुनाव जीतने के लिए इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) से छेड़छाड़ करने और चुनाव नगद प्रयोग करने का आरोप लगाया।

ममता ने कहा, “ईवीएम से छेड़छाड़ करना बीजेपी की आदत है। वह पहले भी ऐसा कर चुकी है और आने वाले चुनावों में भी ऐसा ही करेगी। इसलिए हमारी पार्टी के कार्यकर्ताओं को सतर्क रहना चाहिए और उनकी निगरानी करनी चाहिए।”

उन्होंने कहा, “हम भाजपा की तरह नहीं हैं जो नोटबंदी के नाम पर लोगों से पैसे लेती हैं और उसके बाद चुनाव जीतने के लिए अनैतिक रूप से लोगों के बीच नगद का वितरण करती है।”  इतना ही नहीं उन्होंने बीजेपी को ‘चरमपंथी संगठन’ भी करार दिया है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

evm 1

टीएमसी सुप्रीमो ने कहा कि बीजेपी ऐसी पार्टी है, जो लोगों को धार्मिक आधार पर बांटने में लगी हुई है। ममता बनर्जी ने कहा, “हम बीजेपी की तरह चरमपंथी संगठन नहीं हैं। वे अहंकारी और असहिष्णु हैं। धार्मिक रूप से पक्षपाती भी हैं। बीजेपी मुस्लिमों, ईसाइयों, सिखों को पसंद नहीं करते। वे हिंदुओं में भी अगड़ी जाति और पिछड़ी जाति के लोगों के बीच भेदभाव करते हैं।”

उन्होंने कहा, “कुछ भाजपा कार्यकर्ता एनकाउंटर करने की धमकी दे रहे हैं। कुछ बंदूक का प्रयोग करने और बम फोड़ने की धमकी दे रहे हैं। वे हमें समाप्त करने के बारे में भी बात कर रहे हैं। मैं उन्हें उनके सामथ्र्य को दिखाने की चुनौती देती हूं। हमने पंचायत चुनाव के दौरान उनकी क्षमता देखी है।”

बनर्जी ने कहा, “राजनीति में बंदूक के बल पर कुछ भी नहीं पाया जा सकता। भाजपा के नेता बम और बंदूक की बात कर रहे हैं, क्योंकि वे सत्ता में हैं। लेकिन एक बार सत्ता हारने के बाद, ये लोग कहां जाएंगे? लोग इन्हें सत्ता से बाहर फेंकने के लिए तैयार हैं।”

बता दें कि पश्चिम बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप घोष ने मंगलवार को कहा था, ‘अगर उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं पर तृणमूल कांग्रेस के लोग हमला करते हैं, तो वे बर्दाश्त नहीं करेंगे।’ बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने जवाबी हमले की धमकी भी दी थी।

Loading...