नई दिल्ली | दिल्ली में होने वाले आगामी MCD चुनाव के लिए तीनो दलों ने चुनाव् प्रचार शुरू कर दिया है. यहाँ बीजेपी और कांग्रेस के अलावा इस बार आम आदमी पार्टी भी अपनी किस्मत आजमा रही है. जो दोनों राष्ट्रिय पार्टी के लिए काफी बड़ा खतरा मानी जा रही है. इसी खतरे को भांपते हुए दिल्ली से बीजेपी विधायक विजेंद्र गुप्ता ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर केजरीवाल सरकार की कुछ योजनाओं पर पर्दा डालने की गुहार लगाई.

दरअसल विजेंद्र गुप्ता का कहना था की केजरीवाल सरकार द्वारा शुरू किये गए आम आदमी मोहल्ला क्लिनिक, पोलीक्लीनिक और आम आदमी बस सेवा से उनकी पार्टी का प्रचार हो रहा है जो आचार संहिता का उलंघन है. इसलिए इन सभी जगहों से आम आदमी शब्दों को या तो हटाया जाए या ढका जाए. विजेंद्र गुप्ता ने इसके लिए उत्तर प्रदेश में 2012 और फ़िलहाल हुए विधानसभा चुनावो का उदहारण दिया.

दरअसल 2012 में चुनाव आयोग ने मायावती द्वारा बनाये गए पार्को में लगी हाथियों की मूर्तियों को ढकने का आदेश दिया था. इसके अलावा अभी हाल ही में हुए विधानसभा चुनावो में भी अखिलेश सरकार की समाजवादी एम्बुलेंस सेवा से समाजवादी शब्द को हटाने का आदेश दिया गया था. इसी आधार पर दिल्ली चुनाव आयोग ने सरकार को सभी बैनर , होर्डिंग, नेम प्लेट आदि जगहों से आम शब्द को ढकने या हटाने का आदेश दिया.

चुनाव आयोग ने दिल्ली के मुख्य सचिव को आदेश दिया की 48 घंटे के अन्दर आदेश की तामिल कर रिपोर्ट उन्हें सौपी जाए. चुनाव आयोग के आदेश पर अधिकारियो ने सभी जगहों से आम शब्द तो ढका ही साथ ही साथ मुख्यमंत्री केजरीवाल के चेहरे को भी ढक दिया गया. इसके अलावा अगर किसी होर्डिंग या बैनर में केजरीवाल सरकार के मंत्री की तस्वीर बनी है तो उसे भी ढक दिया गया. मालूम हो की दिल्ली में 23 अप्रैल को नगर निगम चुनावो के लिए मतदान होगा.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?