भाजपा के वरिष्ठ नेता एकनाथ खडसे ने शनिवार को कहा कि अगर उनका ‘अपमान’ जारी रहा तो वह अन्य विकल्पों पर विचार करेंगे। उन्होने ये भी दावा किया है कि पंकजा मुंडे और रोहिणी को हराने में बीजेपी नेताओं का ही हाथ रहा है।

खडसे ने महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में राज्य के उत्तरी हिस्से में पार्टी उम्मीदवारों की हार के लिए जिम्मेदार नेताओं के खिलाफ ‘सबूत’ राज्य इकाई के प्रमुख चंद्रकांत पाटिल को सौंप दिए हैं।

जलगांव से अपनी बेटी रोहिणी और बीड से पूर्व मंत्री पंकजा मुंडे की हार के लिए उन्होंने कई भाजपा नेताओं को जिम्मेदार ठहराया। भाजपा नेता कहा कि वह ‘सबूतों’ को सार्वजनिक करने के लिए तैयार थे, लेकिन पार्टी अनुशासन से बंधे होने के कारण उन्होंने ऐसा नहीं किया।

bjp

पूर्व मंत्री ने कहा, ‘मैं भगवान नहीं हूं। मैं इंसान हूं और भावनाएं रखता हूं। मैं उस पार्टी को नहीं छोड़ना चाहता जिसके लिये मैंने चार दशक से भी ज्यादा समय तक कड़ी मेहनत की। मैं अब भी पार्टी के लिये काम करने को तैयार हूं।’

उन्होंने कहा, “लेकिन अगर निर्णय लेने की प्रक्रिया से दूर रखकर मेरा अपमान किया जाता रहा तो मुझे कुछ और सोचना पड़ेगा।” खडसे से जब भाजपा में ओबीसी नेताओं को किनारे लगाने के उनके बयान के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, “ऐसा मुझे नहीं बल्कि पार्टी कार्यकर्ताओं को महसूस हुआ है। ओबीसी और बहुजन समाज के नेता कड़ी मेहनत करते हुए पार्टी के लिये खून-पसीना एक कर देते हैं।”

वहीं पाटिल ने इन आरोपों पर कहा है कि वह अपने स्तर पर इस मामले को देख रहे हैं। उन्होंने कहा ‘अगर कोई भी उम्मीदवारों की हार के लिए जिम्मेदार है तो उसके खिलाफ निश्चित तौर पर कार्रवाई की जाएगी।’

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन