केंद्र की मोदी सरकार द्वारा पुरे देश में किसानो के अलावा मवेशियों की खरीद-फरोख्त पर पाबंदी लगाने वाले फैसले का कड़ा विरोध हो रहा है.

इस मामले में सीपीआई नेता डी राजा ने मोदी सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर मोदी सरकार ने इस फैसले को रद्द नहीं किया तो देश में गृहयुद्ध जैसे हालात हो सकते हैं.

उन्होंने कहा कि सड़क पर गाय का काटा जाना इस फैसले के खिलाफ गुस्से के चरम का इजहार है. सरकार को लोगों के खाने की पसंद तय करने का कोई हक नहीं है.

डी राजा ने सेनाध्यक्ष बिपिन रावत के उस बयान को भी गलत बताया जिसमें उन्होंने कश्मीरी युवक को जीप पर बांध मानव ढाल बनाने के मेजर गोगोई के फैसले का समर्थन किया था.

डी राजा ने जनरल रावत को नसीहत दी कि उन्हें विवादित बयानों से बचना चाहिए. उनके मुताबिक सेना के किसी भी अफसर को राजनीतिक बयान नहीं देना चाहिए.