गाय को लेकर राजनीति में अब दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी शामिल हो चुके है। शुक्रवार को बवाना स्थित श्रीकृष्ण गौशाला के निरीक्षण के दौरान उन्होंने बीजेपी को निशाने पर लेते हुए कहा कि गाय के नाम पर वोट मांगने वाले गाय को चारा भी नहीं देते।

Loading...

उन्होंने कहा कि, गाय के नाम पर वोट मांगने वाले गाय को चारा भी नहीं देते। हम गाय के नाम पर राजनीति नहीं करते। गाय के नाम पर वोट नहीं मांगते। गाय की सेवा करते हैं। मेरा मानना है कि गाय के नाम पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। गाय के नाम पर वोट नहीं मांगा जाना चाहिए। गाय की सेवा करनी चाहिए।

गोशाला के प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री केजरीवाल को बताया कि भाजपा शासित एमसीडी ने दो सालों से अपने हिस्से के फंड जारी नहीं किए हैं। इसकी वजह से उन्हें दिक्कतें आ रही हैं। केजरीवाल ने दावा किया कि दिल्ली सरकार ने गोशाला को अपने हिस्से की निधि जारी कर दी है लेकिन एमसीडी ने अभी तक अपना हिस्सा नहीं दिया।

उन्होंने कहा कि मंत्री राय और आप सरकार ने हाल ही में पक्षियों और पशुओं के लिए एक नीति पेश की है. घुम्मन हेड़ा इलाके में एक गोशाला का ‘आधुनिकीकरण’किया जाएगा। श्री कृष्ण गोशाला 36 एकड़ से अधिक क्षेत्र में फैली है। इसमें 7,740 मवेशी रखे जाने की क्षमता है और वहां 7,552 मवेशी हैं।

वहीं हरियाणा के हांसी से आए ग्रामीणों से मुलाकात के दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में गौशालाओं को प्रति गाय के लिए रोजाना 40 रुपये दिया जाता है। वहीं हरियाणा से आए लोगों ने बताया कि हरियाणा सरकार हर गाय के लिए सालाना केवल 150 रुपये देती है।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें