एनडीए में बीजेपी के साथी दल जनता दल यू (जेडीयू) के नेता ने बीजेपी सांसद साक्षी महाराज के विवादित बयान पर पलटवार किया है। पार्टी के अल्पसंख्यक कमिटी के अध्यक्ष गुलाम रसूल बलियावी ने साक्षी महाराज के डीएनए पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि अगर उनका डीएनए टेस्ट कराया जायेगा तो मुगल राजा के किसी मंत्री का डीएनए मिल जाएगा।

बलियावी ने उद्धव ठाकरे पर भी निशाना साधा है। शिवसेना प्रमुख पर हमला करते हुए बलियावी ने कहा कि राम मंदिर को लेकर जितने लोग सड़क पर हंगामा कर रहे हैं उनमें से किसी में राम भक्ति नहीं है, वे सब सत्ता भक्ति, स्वार्थ भक्ति और परिवार भक्ति है।

Loading...

उन्होंने उत्तर प्रदेश के गोरखपुर स्थित गोरखधाम मंदिर की जमीन को आसिफ धौला का बताते हुए कहा है कि साक्षी महाराज में दम है, तो इसकी जांच करा लें। वहीं, अयोध्या में उद्धव ठाकरे के जाने पर तंज कसते हुए कहा कि जितने भी लोग सड़क पर हंगामा कर रहे हैं, किसी में राम भक्ति नहीं है, ये सब सत्ता भक्ति, स्वार्थ भक्ति और परिवार भक्ति है।

बलियावी ने कहा कि लोग देश को कहां ले जा रहे हैं जब मामला (राम मंदिर का) सुप्रीम कोर्ट में है तो तथ्यों के साथ सामना कीजिये। यह बेचैनी बता रही है कि इन लोगों को मंदिर से कोई मतलब नही हैं बल्कि मंदिर के मुद्दे पर राजनीति का व्यापार हो रहा है।

उन्होंने कहा कि क्या किसी भी मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मंदिर बनाने का विरोध किया है? अब तो मामला मंदिर का है या मंदिर की जमीन के विवाद का है। किसको खोदेगा तो क्या निकलेगा इसके तथ्यों के साथ सुप्रीम कोर्ट में जाएं। उन्होंने कहा कि अभी देश में खुद को सबसे बड़ा धर्मिक साबित करने का कंपटीशन चल रहा है लेकिन मोदी जी और योगी जी ये समझें कि देश आस्था और धर्म से नहीं संविधान से चलता है।

बता दें कि हाल ही में साक्षी महाराज ने कहा था कि काशी- मथुरा- अयोध्या छोड़ो, दिल्ली की जामा मस्जिद को तोड़ो, अगर सीढ़ियों से मूर्तियां ना निकलें तो मुझे फांसी पर लटका देना।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें