Sunday, September 19, 2021

 

 

 

लैंगिक अधिकारों को नकारना शरिया कानून के खिलाफ : एम जे अकबर

- Advertisement -
- Advertisement -

mj-akbar_650x400_41451135541

केंद्रीय मंत्री एम जे अकबर ने महिला अधिकारों को लेकर कहा कि लैंगिक अधिकारों को नकारना शरिया के खिलाफ हैं. जो कोई भी कुरान का ज्ञान रखता हैं. इस पर सवाल उठाने की जरुरत नहीं करेगा.

उन्होंने कहा कि आप किसी भी व्यक्ति को लैंगिक समानता से वंचित नहीं कर सकते. लैंगिक अधिकारों को नकारना शरिया के खिलाफ है. ऐसे में कोई भी कुरान के कानून की गहरी समझ रखने वाला कभी भी इस पर तर्क-वितर्क करने की हिम्मत नहीं करेगा.

अकबर ने कहा, आपने कानून को मर्दाना गुस्से में बदल दिया है और कुरान की इस पर खासतौर से मनाही है. कोई भी देश लैंगिक स्वतंत्रता और प्रगति के बिना आधुनिक नहीं बन सकता. यह संभव ही नहीं है.

उन्होंने कहा कि एक आधुनिक देश के लिए लैंगिक समानता से इतर, विचार, अभिव्यक्ति, राजनीतिक व्याख्या या गैर-राजनीतिक व्याख्या की स्वतंत्रता अनिवार्य है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles