नई दिल्ली | कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने सैफुल्ला के बहाने मोदी पर तंज कसा है. उन्होंने नोट बंदी पर मोदी के दावों पर निशाना साधते हुए कहा की मोदी जी कहते थे की नोट बंदी से आतंकवाद खत्म होगा. लेकिन क्या वास्तव में ऐसा हुआ है? दिग्विजय सिंह ने आरएसएस पर भी आईएसआई से फंड लेने का आरोप लगाया. यही नही उन्होंने अजित डोभाल की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठा दिए.

एक टीवी न्यूज़ चैनल से बात करते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा की यह हमारे लिए एक चिंता का विषय है की आखिर मुस्लिम युवाओ को ISIS कैसे प्रभावित कर रहा है? आखिर क्या कारण है की वो तालिबान से नही जुड़ता लेकिन IS की तरफ आकर्षित हो जाता है. इस पर सोचने की जरुरत है. सैफुल्ला पर दिग्विजय सिंह ने कहा की राष्ट्रिय सुरक्षा से खिलवाड़ करने वाले किसी भी व्यक्ति बख्सा नही जाना चाहिए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

दिग्विजय ने स्पष्ट शब्दों में बोलते हुए कहा की जब बात देश की सुरक्षा की आती है तो चाहे वो हिन्दू या मुसलमान उस पर कड़ी कार्यवाही होनी चाहिए. दिग्विजय ने आरएसएस पर आईएसआई से फंड लेने का आरोप लगाते हुए कहा की पुणे बम ब्लास्ट में आरोपी और आरएसएस एक्टिविस्ट कर्नल पुरोहित और आप्टे ने मोहन भागवत और इन्द्रेश पर आइएसआई से फंड लेने का आरोप लगाया था.

दिग्विजय ने कहा की यह आरोप मैंने नही आरएसएस एक्टिविस्ट ने लगाए थे इसलिए आरएसएस को इस पर सफाई देनी चाहिए. सैफुल्ला के IS कनेक्शन को लेकर दिग्विजय ने कहा की सोशल मीडिया की वजह से मुस्लिम युवा IS की तरफ आकर्षित हो रहे है. इसलिए मैं धार्मिक कट्टरवाद को लेकर चिंतित हूँ. अगर देश को विकास करना है तो हमें महात्मा बुद्ध और महात्मा गाँधी के विचारो पर चलना होगा क्योकि प्यार और अहिंसा ही इस देश की पूंजी है.

Loading...