बीजेपी नेता और केंद्रीय खेलमंत्री विजय गोयल द्वारा बुर्के को गुलामी का प्रतीक बताने के बाद आमिर खान की ‘दंगल’ फिल्‍म में फोगाट के बचपन का किरदार निभाने वाली कश्मीर घाटी की युवा अभिनेत्री ज़ायरा वसीम लताड़े जाने पर विजय गोयल दुनिया भर में मजाक का पात्र बनकर रह गये.

ज़ायरा वसीम की इस दिलेरी और बहदुरता को लेकर राजद नेता मनोज झा ने उनकी पीठ थपथपाई हैं. उन्होंने कहा, “ज़ायरा वसीम ने जो किया उस पर मुझे गर्व है. हिजाब से किसी महिला का कैसे माप सकते हैं. कई लोगों को, विशेष रूप से संघ जुड़े भाजपा के लोगों को यह बात समझ में नहीं आती. गोयल बहुत कम जानते हैं, अगर वो महिलाओं के बारे में पढ़े तो उनका लकीर के फकीर वाला सोच खत्म हो जाएगा. बुर्के में रहने वाली महिलाओं पर उनको टिप्पणी करने का कोई अधिकार नहीं है.

उन्होंने आगे कहा कि यह बताता है कि लोग घरों के अंदर अपनी बेटियों को छिपा कर रखते है और उनकी प्रतिभा को रोकते हैं. मैं समाज के रूढ़ीवादी लोगों से और बेटियों और बहनों से कहना चाहता हूं कि अपनी बेटियों को अपनी योग्यता दिखाने का मौका दे और उन्हें प्रोत्साहित करे.

याद रहें कि शुक्रवार को विजय गोयल ने बुर्के को गुलामी की निशानी बताते हुए बुर्का पहने एक लड़की को पिंजरे में दर्शाती हुई पेटिंग की तस्वीर ट्विटर पर शेयर की. इसमें उन्होंने ज़ायरा वसीम को टैग करते हुए लिखा कि  “ये पेंटिंग ज़ायरा वसीम की सी कहानी कहती है. पिंजरा तोड़कर हमारी बेटियां बढ़ने लगी हैं. हमारी बेटियों को और शक्ति मिले.

https://twitter.com/zairawasim/status/822323369764798464

इस ट्वीट के बाद “‘दंगल’ गर्ल को बुर्के का अपमान होता सहन नहीं हुआ और उन्होंने खेलमंत्री को बड़ी ही इज्जत के साथ बुर्के की अहमियत समझाते हुए कहा कि ”सर मैं बेहद अदब से कहना चाहती हूं कि मैं आपसे सहमत नहीं हूं. मेरी गुजारिश है कि आप मुझको इस तरह से संबद्ध नहीं करें. हिजाब में भी महिलाएं खूबसूरत और आजाद हैं. साथ ही इस पेटिंग में जो कहानी पेश की गई है, उसका दूर-दूर तक मुझसे लेना-देना नहीं है.”

https://twitter.com/zairawasim/status/822323658173493248

https://twitter.com/zairawasim/status/822323776280924161


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें