उत्तरप्रदेश के चुनावों में पहली बार हिस्सा लेने वाली आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) किसी भी सीट पर खाता भी नहीं खोल पाई हैं. अपनी पार्टी की करारी हार और बीजेपी की बड़ी जीत पर पार्टी प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि श्‍मशान और कब्रिस्‍तान की लड़ाई में श्‍मशान ने जीत दर्ज की हैं.

उन्होंने भारतीय लोकतंत्र की ताकत पर सवाल उठाते हुए कहा कि देश में नरेन्द्र मोदी सरकार सबका साथ सबका विकास की सिर्फ बात करती है. वहीं हकीकत उत्तर प्रदेश चुनाव के नतीजे बताते हैं. ओवैसी ने कहा कि देश में जो लोग हिंदू राष्ट्र में विश्वास नहीं रखते उन्हें एंटी नैशनलिस्ट कहा जाता है.

इंडिया टुडे कॉन्‍क्‍लेव 2017 में बोलते हुए ओवैसी ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी सभी को एक तरफ चलने को मजबूर कर रही है, यह मंजूर नहीं है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ओवैसी ने कहा, उत्‍तर प्रदश विधानसभा चुनाव के नतीजे खास थे. यह सिर्फ कुछ के विकास के लिए आए नतीजे थे, न कि सबके विकास के लिए. उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में कब्रिस्‍तान और संविधान की लड़ाई में, श्‍मशान जीत गया.

Loading...