अलवर में कथित गौरक्षा के नाम पर मुस्लिम शख्स की हत्या के मामले में माकपा ने केंद्र और राजस्थान सरकार से उच्चतम न्यायालय के निर्देशों का अनुपालन की मांग की है.

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने घटना की निंदा करते हुए कहा कि राजस्थान पुलिस ने पीड़ितों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया लेकिन स्वयंभू गोरक्षकों को जाने दिया. पार्टी ने आरोपियों की तुरंत गिरफ्तारी की मांग की है.

पार्टी की और से जारी बयान में कहा गया, माकपा केंद्र और राजस्थान सरकार से उच्चतम न्यायालय के निर्देशों का अनुपालन करने, अपराधियों पर मुकदमा चलाने को सुनिश्चित करने और पीड़ितों के परिवारों को पर्याप्त मुआवजा देने एवं न्याय सुनिश्चित करने की मांग करता है.

ध्यान रहे शनिवार को अलवर जिले से पिकअप में गाय लेकर भरतपुर के घाटमिका गांव जा रहे तीन मुस्लिम युवकों के साथ गौरक्षा के नाम पर मारपीट की गई थी. इस वारदात में उमर की गोली मारकर हत्या की गई. साथ ही उसके साथी ताहिर और जावेद को बेरहमी से पीटा गया. दोनों का हरियाणा के निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है.

अलवर के एसपी राहुल प्रकाश के मुताबिक मामले में एक शख्स को हिरासत में लिया गया है और 6 लोगों की पहचान की गई है. बाकि आरोपियों की पहचान हो गई है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें