Saturday, February 27, 2021
Home पॉलिटिक्स मुस्लिमों की बदहाली को नजरअंदाज कर देश तरक्की नहीं कर सकता: अकबरुद्दीन...

मुस्लिमों की बदहाली को नजरअंदाज कर देश तरक्की नहीं कर सकता: अकबरुद्दीन ओवैसी

आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के विधायक अकबरुद्दीन ओवैसी ने एक जनसभा को संबोधित करते हुएकहा कि देश के मुसलमानों की बदहाली को नजरअंदाज कर देश तरक्की नहीं कर सकता। अगर हिन्दूस्तान को सुपर पॉवर देश बनाना है तो उस तरक्की में मुसलमानों को शामिल करना जरूरी है। मुस्लिम अकलियत को नजरअंदाज करके हिन्दूस्तान को सुपर पॉवर नहीं बनाया जा सकता।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बार बार सबका साथ सबका विकास का नारा लगाते हैं लेकिन कभी भी उन्होंने सबके विकास पर जोर नहीं दिया। ओवैसी ने कहा कि अगर यहां का विकास चाहते हैं तो हिन्दू, मुस्लिम, सिख, इसाई सबको एक साथ आना होगा। इस देश पर सभी का हक है। हिन्दूस्तान किसी का जागीर नहीं है। यह मुल्क हमारा था हमारा है और हमरा रहेगा।

ओवैसी ने कहा कि बात बात पर हमारी वफादारी पर शक करने और मुल्क से जाने की बातों से हम डरने वाले नहीं हैं। हम अपने हक के लिए भीख नहीं मांगेंगे। क्योंकि इस जमीन पर हमारा भी बराबर का हक है। अकबरुद्दीन ओवैसी ने कहा कि देश में फिलहाल शहरों का नाम बदलने का सिलसिला चल रहा है। आगरा के नाम की तब्दीली की जा रही है। इलाहाबाद और दूसरे अन्य नामों को बदल दिया गया।

AIMIM नेता ने कहा, फिरका परस्त ताकतों को नामों को बदलने से रोकने के लिए जोश चाहिए और अपने उम्मीदवारों को बड़ी संख्या में विधानसभा और लोकसभा में भेजना वक्त की जरूरत है। क्योंकि कानून बनाने वालों में बड़ी ताकत होती है। अगर हमारे उम्मीदवार विधानसभा और लोकसभा में होंगे तो वह गैरकानूनी तरीके से नामों को नहीं बदल सकेंगे। साथ ही हर नाइंसाफी पर आवाज उठा सकेंगे।

उन्होंने कहा कि कश्मीर में अमन व चैन लाने में नाकाम भाजपा अब फिर से राम मंदिर का नाम अलाप रही है। हर मुद्दे पर फेल होने के बाद भाजपा राम मंदिर को अपना मुद्दा बना रही है। देश इस वक्त बहुत ही नाजुक दौर से गुजर रहा है। ऐसे हालात में हमें पहले से ज्यादा एक होने की जरूरत है।
Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano