राष्ट्रपति पद के लिए आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत की उम्मीदवारी को लेकर कांग्रेस ने स्पष्ट कर दिया हैं कि वह राष्ट्रपति पद के लिए किसी ऐसे उम्मीदवार का समर्थन नहीं करेगी जो आरएसएस विचारधारा से जुड़े हों.

दरअसल, शिवसेना ने दो दिन पहले ही संघ प्रमुख मोहन भागवत को राष्ट्रपति बनाने पर जोर दिया था. पार्टी सांसद संजय राउत ने कहा था कि मोहन भागवत अगर देश के अगले राष्ट्रपति बनते हैं तो आगे हिंदू राष्ट्र की परिकल्पना को साकार किया जा सकता है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

शिवसेना के इस बयान पर कांग्रेस प्रवक्ता गौरव गोगोई ने कहा, ‘शिवसेना की राय पर हम कुछ कहना नहीं चाहेंगे. इस बारे में हम अपने बीच विचार विमर्श करेंगे और जो भी फैसला होगा, उसे सही समय पर हम आपको अवगत कराएंगे.’

उन्होंने आगे कहा, ‘हम आरएसएस की विचारधारा का समर्थन नहीं करते, यह बहुत स्पष्ट है. इस मामले में पार्टी उचित समय पर आतंरिक विचार विमर्श कर निर्णय करेगी.’

Loading...