sachin

sachin

जयपुर। उपचुनाव में कांग्रेस को मिली बड़ी जीत को राजस्थान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने जनता की और से मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को करारा जवाब बताया है.

सचिन पायलट ने कहा कि यह कांग्रेस के पक्ष में और वसुंधरा सरकार के विरोध में मैंडेट है. सत्ता के खिलाफ मैंडेट है. पायलट ने कहा कि ये कांग्रेस कार्यकर्ताओं की मेहनत का नतीजा और जनता का सरकार के खिलाफ गुस्सा है. पायलट ने कहा कि कांग्रेस की बढ़त इसी साल होने वाले चुनाव मे सरकार के खिलाफ भी जनादेश है.

साथ ही पायलट ने मुख्यमंत्री इस्तीफा मांगते हुए कहा कि वसुंधरा राजे को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए, उन्हें अपने पद पर बने रहने का नैतिक अधिकार नहीं है. उन्होंने कहा, उपचुनाव में मतदाताओं ने भारतीय जनता पार्टी के चार साल के कुशासन पर मुहर लगाई है.

उन्होंने कहा, तीनों उपचुनाव में कांग्रेस के पक्ष में चुनाव परिणाम आने से यह साफ हो गया है कि सत्ता, पैसे की ताकत और बहुमत के जोर के बावजूद जनता की आवाज को दबाया नहीं जा सकता है. इससे यह मिथक भी टूट गया है कि भाजपा चुनाव जीतने की मशीन है.

कांग्रेस नेता ने कहा कि लोकसभा उपचुनाव में जीत नोटबंदी और जीएसटी के खिलाफ मतदाताओं का सीधा फैसला है, इसे केंद्र की भाजपा सरकार को समझना चाहिए. इस जीत से कर्नाटक आदि राज्यों में निकट भविष्य में होने वाले चुनाव पर तो असर पड़ेगा ही साथ ही प्रदेश में आठ महीने बाद होने वाले विधानसभा चुनावों में भी कांग्रेस को ताकत मिलेगी.

उन्होंने कहा कि मतदान के दो दिन पहले भाजपा ने पैसा और शराब बांटने के लिए अपनी पूरी टीमें लगा दी लेकिन प्रशासन और कांग्रेस की गश्त कर रही टीमों ने गैरकानूनी तरीके से मतदाताओं को प्रभावित करने के प्रयासों को सफल नहीं होने दिया.

पायलट ने इस चुनाव में भाजपा के जुमले फेंकने और झूठे वायदे कर जनता को भ्रमित करने के प्रयासों को जनता ने सिरे से नकार दिया. भाजपा ने पहले तो धर्म के नाम पर राजनीति करने की चेष्टा की लेकिन जब यह दांव नहीं चला जो जातियों को बांटकर वोट बटोरने का प्रयास किया लेकिन वह अपने मंसूबों पर कामयाब नहीं हो सकी

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें