अपनी ही पार्टी पर भड़का ये मुस्लिम सांसद, कहा – किया जा रहा मुसलमानों को नजरंदाज

7:53 pm Published by:-Hindi News

सियासी तौर पर सेकुलर पार्टियां मुसलमानों को चुनावों में पहले ही किनारे कर चुकी है। लेकिन अब उन पर हो रहे अत्याचार को लेकर भी पार्टियों ने आवाज उठाना बंद कर दिया है। ऐसे में कांग्रेस के राज्यसभा सांसद हुसैन दलवई भड़क उठे।

उन्होने महाराष्ट्र कांग्रेस की नई कमेटियों में मुसलमानों को कम प्रतिनिधित्व मिलने पर सवाल खड़े किए हैं। हुसैन दलवई ने मुलसमानों को नजरअंदाज करने का आरोप लगाने के साथ ही राहुल ग़ांधी को चिठ्ठी लिखी है और हालात ठीक करने की मांग की है।

हुसैन दलवई का कहना है कि महाराष्ट्र में कांग्रेस ने 8 कमेटियां बनाई, जिसमें कुल 210 लोगों को शामिल किया गया है, लेकिन इनमें सिर्फ 14 मुस्लिम हैं। जबकि महाराष्ट्र में मुसलमान हमेशा कांग्रेस के साथ खड़ा रहा, लेकिन कांग्रेस उन्हें नज़र अंदाज़ कर रही है।

congres

पार्टी के शीर्ष नेता के.सी वेणुगोपाल से मिलने पहुंचे कांग्रेसी राज्यसभा सदस्य ने कहा, “जब भी अन्य पार्टियों से चर्चा की बात आती है, तब हमें नजरअंदाज कर दिया जाता है और मुस्लिम बहुल इलाकों (सीटों) से औरों को मौका मिलता है। मैं इसी मुद्दे पर केसी वेणुगोपाल से मिलने आया, पर वह वहां नहीं थे।”

उनके मुताबिक, “हर समिति में मुस्लिमों का कम ही प्रतिनिधित्व होता है। घोषणा-पत्र वाली समिति में महज दो मुसलमानों क शामिल किया गया था। मुस्लिमों के मसले उठाना महत्वपूर्ण है। अगर आप मुस्लिमों से इतना डरे हैं, तब आपको उनके वोट क्यों चाहिए?”

महाराष्ट्र कांग्रेस ने प्रदेश स्तर पर 8 कमेटियों का एलान किया है, जिसमें को-ऑर्डिनेशन कमेटी समेत कई कमेटियों में हुसैन दलवई का नाम शामिल है, लेकिन स्ट्रेटेजी कमेटी में उनका नाम शामिल नहीं है। जबकि आरिफ नसीम खान को इसमें शामिल किया गया है।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें