कांग्रेस ने स्मृति ईरानी के पति पर लगाया सरकारी जमीन हड़पने का आरोप कहा, जिसके घर शीशे के हो वो दूसरो पर पत्थर नही मारते

नई दिल्ली | कांग्रेस ने केन्द्रीय कपडा मंत्री स्मृति ईरानी के पति पर सरकारी जमीन हड़पने का आरोप लगाया है. उन्होंने केन्द्रीय मंत्री की इस हरकत को शर्मनाक बताते हुए कहा की राज्य सरकार को राजधर्म निभाते हुए मामले की जांच करनी चाहिए. दरअसल कुछ दिन पहले खबर आई थी की स्मृति इरानी के पति पर मध्यप्रदेश में एक सरकारी स्कूल पर कब्ज़ा करने का आरोप लगा है.

शनिवार को इसी मामले पर कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कांफ्रेंस कर कहा की एक कहावत है जी जिसके घर शीशे के होते है उनको दूसरो के घर पर पत्थर नही मारने चाहिए. उम्मीद है की आदरणीय स्मृति इरानी ने इससे कुछ पथ जरुर सीखा होगा. हम राज्य सरकार से इस मामले की जांच करने और राजधर्म निभाने की मांग करते है. प्रदेश में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने इस पुरे मामले को शर्मनाक करार दिया.

बताते चले की मध्यप्रदेश के उमरिया जिले में बांधवगढ़ राष्ट्रिय उद्यान के पास कुचवाड़ी गांव में एक सरकार स्कूल है. 1956 से खसरा नंबर 75 की ढाई एकड़ जमीन इस स्कूल के नाम दर्ज की गयी थी. इसी जमीन से लगती एक पांच एकड़ जमीन हजारी बानी के नाम दर्ज है जो कई वर्षो लापता है और उसका कोई वारिस भी नहीं. करीब 30 सालो से यह मांग उठ रही है की इस जमीन को भी स्कूल के नाम कर दिया जाए.

इसी स्कूल के प्रधानाचार्य ने आरोप लगाया है की स्मृति इरानी के पति जुबीन फरदून और उनके पार्टनर पुष्पेन्द्र सिंह ने सरकारी स्कूल की जमीन पर कब्ज़ा कर लिया है. खबर है की स्मृति के पति और उनके पार्टनर यहाँ एक रिसोर्ट खोलने की योजना बना रहे है. प्रधानाध्यापक का आरोप है की दोनों ने जमीन खरीद में फर्जीवाडा किया है इसलिए मामले की जांच होनी चाहिए.

विज्ञापन