भोपाल: मध्यप्रदेश कांग्रेस के सचिव मौलाना उमर कासमी ने केंद्र की मोदी सरकार को नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर (NPR) को लेकर देश की जनता को गुमराह करने का आरोप लगाया है। उन्होने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन (NRC) पर घिर चुकी मोदी सरकार अब NPR को अपना हथियार बना रही है।

कासमी ने दावा किया कि नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर (NPR) भी नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन (NRC) का ही दूसरा रूप है। या दूसरे शब्दों में बोला जाए तो नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर (NPR) के जरिए ही मोदी सरकार नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन (NRC) को अंजाम देगी। जिसका नाम दूसरा नाम नेशनल रजिस्टर ऑफ इंडियन सिटीजन (NRIC) है।

उन्होने कहा कि भारत को हिटलर के पहले वाले जर्मनी की तरह बनाने की तैयारी हो रही है। उन्होने कहा कि मोदी सरकार के फैसलों का ध्यान से विश्लेषण किया जाए तो हिटलर के समय के जर्मनी और वर्तमान मोदी सरकार के भारत में काफी समानता देखने को मिल जाएगी।

कासमी ने कहा कि असम में घुसपेठियों को लेकर बीजेपी के दावों की पोल नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन (NRC) ने खोल कर रख दी है। बांग्लादेशी मुस्लिमों का जो बीजेपी ने हव्वा खड़ा किया था। वह अब एनआरसी का जरिये दुनिया के सामने आ चुका है। एनआरसी से बाहर होने वाले लोगों में गैर-मुस्लिमों की संख्या ज्यादा है। इसके साथ ही एनआरसी में भ्रष्टाचार के आरोपो ने इस पूरी प्रक्रिया को ही सवालों के घेरे में ला दिया है।

कांग्रेस नेता ने जनता से अपील करते हुए कहा कि देश को बीजेपी के झूठी बातों में नहीं आना चाहिए। मोदी सरकार के निशाने पर इस वक्त देश का संविधान है। जिसकी रक्षा करना हर भारतीय का कर्तव्य है। धर्म, मजहब से ऊपर उठकर मोदी सरकार के इस फैसले का कड़े से विरोध करना चाहिए।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन