अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर कांग्रेस के सभी बड़े नेता एक-एक कर खुलकर समर्थन में आ रहे है। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने एक ट्वीट किया। जिसमे उन्होने कहा कि  पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की भी यही इच्छी थी कि अयोध्या में भगवान राम का भव्य मंदिर बने।

दिग्विजय सिंह ट्वीट करते हुए लिखा, ” हमारी आस्था के केंद्र भगवान राम ही हैं! और आज समूचा देश भी राम भरोसे ही चल रहा है। इसीलिए हम सबकी आकांक्षा है कि जल्द से जल्द एक भव्य मंदिर अयोध्या राम जन्म भूमि पर बने और राम लला वहां विराजें। स्व. राजीव गांधी जी भी यही चाहते थे।” उन्होंने दूसरे ट्वीट में भूमि पूजन के आयोजन के समय पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने लिखा है, रही बात मुहूर्त की, तो इस देश में 90 प्रतिशत से भी ज्यादा हिन्दू ऐसे होंगे जो मुहूर्त, ग्रह दशा, ज्योतिष, चौघड़िया आदि धार्मिक विज्ञान को मानते हैं। मैं तटस्थ हूँ इस बात पर कि 5 अगस्त को शिलान्यास का कोई मुहूर्त नही है ये सीधे-सीधे धार्मिक भावनाओं और मान्यताओं से खिलवाड़ है।

इससे पहले मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने राम मंदिर के निर्माण का स्वागत करते हुए कहा,  ‘मैं अयोध्या में राममंदिर निर्माण का स्वागत करता हूं। देशवासियों को इसकी बहुत दिनों से अपेक्षा और आकांक्षा थी। राम मंदिर का निर्माण हर भारतवासी की सहमति से हो रहा है, ये सिर्फ भारत में ही संभव है।’ ऐसे में हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने तंज कसा है। ओवैसी ने कमलनाथ के वीडियो को रीट्वीट करते हुए लिखा है, ”ज़ालिम! दिल की बात जुबां पर आ ही गई।”

ओवैसी ने यह भी कहा कि आपको कार्यालय खोलकर मंदिर के लिए चंदा भी मांग लेना चाहिए। उन्होने कहा, ”ज़ालिम! दिल की बात जुबां पर आ ही गई। आपको यहीं नहीं रुकना चाहिए। मेरा सुझाव है कि देश के हर कांग्रेस दफ्तर को राम मंदिर निर्माण के लिए मिट्टी का दान करना चाहिए।”

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन