नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को लोधी रोड (Lodhi Road) स्थित सरकारी आवास को खाली करने का आदेश दिया गया है। 1 महीने के भीतर यानी एक अगस्‍त तक प्रियंका गांधी को ये सरकारी बंगला खाली करना होगा।

दरअसल, पिछले साल नवंबर महीने में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने देश में SPG सुरक्षा को लेकर रिव्यू किया था। इसके बाद गांधी परिवार यानी सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से SPG कवर वापस ले लिया गया था। अब इन तीनों के पास Z प्लस सुरक्षा है, वो भी CRPF के साथ।

प्रियंका गांधी को इसी प्रोटेक्शन के तहत लोधी एस्टेट में एक सरकारी बंगला अलॉट था, अब केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय का कहना है कि क्योंकि ये प्रोटेक्शन नहीं है, इसलिए आपको एक अगस्त तक बंगला खाली करना होगा। ऐसा ना करने पर अतिरिक्त किराया देना होगा। रिकॉर्ड के मुताबिक, प्रियंका गांधी पर 30 जून 2020 तक 3,46,677 रुपए का बकाया है। उन्हें बंगला छोड़ने तक का किराया और बकाया राशि को जमा करने का नोटिस जारी किया गया है।

मामले में कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि बंगला खाली कराने से जुड़ा सरकार क आदेश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की बेचैनी दिखाता है। आवास खाली कराने से प्रियंका और कांग्रेस डरने वाले नहीं हैं तथा वे देश एवं उत्तर प्रदेश की जनता की आवाज उठाते रहेंगे।

उन्होंने एक बयान में दावा किया, भाजपा व मोदी सरकार की कांग्रेस नेतृत्व से अंधी नफ़रत तथा प्रतिशोध की भावना जग ज़ाहिर है। अब तो वह और ओछी हरकतों व हथकंडों पर उतर आए हैं। प्रियंका जी का मकान ख़ाली कराने का नोटिस मोदीजी-योगीजी की बेचैनी को दिखाता है।

सुरजेवाला ने कहा, ‘कुंठित सरकार के तुगलकी फैसलों से हम डरने वाले नहीं। प्रधानमंत्री मोदी और योगी आदित्यनाथ प्रियंका जी और कांग्रेस की आवाज को रोक नहीं पाएंगे।’ वहीं, कांग्रेस नेता जितिन प्रसाद ने कहा, ध्यान भटकाने के मकसद से उठाए गए कदमों का प्रियंका गांधी पर कोई असर नहीं पड़ने वाला है। वह उत्तर प्रदेश की जनता की लड़ाई लड़ने के मिशन पर निकली हैं और रुकने वाली नहीं हैं।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन