उज्जैन | कांग्रेस नेता नूरी खान ने एक यात्रा के दौरान ‘ओम नमः शिवाय’ का जाप कर सब धार्मिक पंडितो को चौका दिया. यही नही उन्होंने भगवा वस्त्र धारण कर एक सन्देश देने की भी कोशिश की. उनका कहना है की भगवा रंग न हिन्दू का है और न ही हरा रंग मुस्लमान का. हालाँकि नूरी खान के इस कदम की शहर काजी ने आलोचना की है. उन्होंने इस नूरी खान का पोलिक्टिकल स्टंट करार दिया.

मंगलवार को उज्जैन में वाल्मीकि धाम के संस्थापक संत उमेशनाथ महाराज के नेतृत्व में ओम नमः शिवाय यात्रा का आयोजन किया गया. इस यात्रा में कांग्रेस नेता नूरी खान ने भी शिरकत की. जब नूरी खान यात्रा में पहुंची तो उन्होंने भगवा वस्त्र धारण किया हुआ था. यह देखकर वहां मौजूद सभी हिन्दू समुदाय के लोग आश्चर्यचकित रह गए. इसके बाद नूरी ने ओम नमः शिवाय मन्त्र का जाप भी किया. बाद में उन्होंने इस यात्रा की कुछ फोटो और विडियो सोशल मीडिया पर भी अपलोड की गयी.

नूरी खान ने ‘तो आज कर दो फतवा जारी’ नाम से एक पोस्ट लिखी जिसमे इस यात्रा की कुछ फोटो और विडियो अपलोड की गयी. पोस्ट में नूरी ने लिखा,’ धर्म के ठेकेदार तय नहीं करेंगे कि अच्छा हिंदू कौन या अच्छा मुसलमान कौन. न केसरिया तेरा है न हरा मेरा है. न भगवा रंग किसी के बाप का है, न हरा रंग. मैंने भगवा रंग भाईचारे और एकता के लिए पहना है. मेरा इस्लाम मेरे पालन का विषय है.’

नूरी ने आगे लिखा ,’अगर किसी अन्य धर्म के सम्मान की बात होगी तो मैं हमेशा आगे रहूंगी. मजहब बैर रखना नहीं सिखाता,’ नूरी के इस पोस्ट पर शहर काजी खलीकुर्रेहमान ने कहा की अगर इस यात्रा का मकसद हिन्दू मुस्लिम भाईचारा है तो यह प्रशंसा की बात है लेकिन जाप करना एक धार्मिक विषय है. उनका यह कदम महज एक राजनितिक स्टंट है. नूरी की पोस्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने इस नादानी करार दिया.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?