Thursday, August 5, 2021

 

 

 

कांग्रेस नेता नटवर सिंह का विवादित बयान – ‘खुशी है कि भारत का बंटवारा हुआ’

- Advertisement -
- Advertisement -

पूर्व विदेश मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता नटवर सिंह ने रविवार को देश के बँटवारे को लेकर खुशी जताते हुए कहा कि ‘मुझे खुशी है कि भारत का बंटवारा हुआ। ऐसा नहीं होता तो मुस्लिम लीग देश को चलने नहीं देती।’

पूर्व विदेश मंत्री ने ये बात राज्यसभा सांसद एमजे अकबर की नई किताब ‘Gandhi’s Hinduism: The Struggle Against Jinnah’s Islam’ के लोकापर्ण के मौके पर कहा, ‘मुझे खुशी है कि भारत का विभाजन हुआ। अगर विभाजन नहीं होता तो हमें सीधी कार्रवाई के और भी दिन देखने पड़ते।’

उन्होंने कहा, ‘पहली बार यह जिन्ना के जीवनकाल में 16 अगस्त 1946 को हुआ था, जिसमें कोलकाता में भड़के सांप्रदायिक दगों में हजारों हिं’दू मारे गए थे। दंगों के जवाब में बिहार में हिंसा की घटनाएं हुईं, जिनमें हजारों मुस्लिमों की जान गई। यह भी मुमकिन था कि विभाजन नहीं होता तो मुस्लिम लीग देश को चलने ही नहीं देती।’

मुस्लिम लीग पर अपनी राय रखने के लिए नटवर सिंह ने 2 सितंबर 1946 में गठित भारत की अंतरिम सरकार का उदाहरण दिया। उन्होंने बताया कि किस तरह से मुस्लिम लीग ने शुरुआत में वायसराय की कार्यकारिणी परिषद के उपाध्यक्ष जवाहरलाल नेहरू की कैबिनेट में शामिल होने से मना कर दिया। बाद में उन्होंने सिर्फ अपने प्रस्तावों को खारिज करने के लिए हिस्सा लिया।

नटवर सिंह ने गांधी और जिन्ना को दो ‘महान’ और ‘मुश्किल’ व्यक्ति करार दिया। 88 वर्षीय कांग्रेसी नेता ने कहा, ‘उनके साथ रहना मुश्किल हो जाता क्योंकि गांधीजी के मानक बहुत उच्च थे और जिन्ना का स्वभाव काफी अक्खड़ था। जिनके साथ संभवत: मैं नहीं रह सकता था।’

उन्होंने वहां मौजूद लोगों से कहा कि वह कार्यक्रम में एकमात्र ऐसे व्यक्ति हैं जिन्होंने गांधी को जीवित देखा है। पूर्व विदेशमंत्री ने कहा, उनका मानना है कि भारत के अंतिम गर्वनर जनरल सी राजगोपालचारी के मनाने पर महात्मा गांधी ने जिन्ना को महत्व दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles