kasmii

नई दिल्ली: केंद्र की मोदी सरकार ने एक बार फिर से पेट्रोल डीजल के दामों में बढ़ोतरी कर दी है। देश के कई हिस्सों में पेट्रोल की कीमत 85 रुपए प्रति लीटर और डीजल की कीमत 74 रुपए प्रति लीटर पार कर चुकी है। पिछले चार सालों में मोदी सरकार पेट्रोल में अधिकतम 10.71 रुपये जबकि डीजल में अधिकतम 11.49 रुपये का इजाफा कर चुकी है।

ऐसे में कांग्रेस नेता मुहम्मद उमर कासमी ने कहा कि सत्ता में आने के साथ ही मोदी सरकार देश के 11 लाख करोड़ रुपए लूट चुकी है। तो दूसरी और  सरकार 15 देशों को पेट्रोल महज 34 रुपए प्रति लीटर और 29 देशों को डीजल मात्र 37 रुपए में बेच रही है। इन देशों में इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका, मलेशिया और इस्राइल शामिल हैं।

उन्होने कहा कि मई 2014 में पेट्रोल का उत्पाद शुल्क महज 9.2 रुपए प्रति लीटर था जबकि अब यह 19.48 रुपए प्रति लीटर है। उन्होंने दावा किया कि मई 2014 में डीजल का उत्पाद शुल्क 3.46 रुपए प्रति लीटर था लेकिन अब यह 15.33 रुपए प्रति लीटर है। बीजेपी के सत्ता में आने के बाद से केंद्रीय उत्पाद शुल्क 12 गुना बढ़ गया है।

मोदी सरकार से लूटमार में शिवराज सरकार आगे:

कासमी ने कहा कि इस वक्त मध्यप्रदेश में पेट्रोल 84.30 रुपए प्रति लीटर और डीजल 74.60 रुपए प्रति लीटर बेचा जा रहा है। उन्होने बताया कि पेट्रोल पर मोदी सरकार और शिवराज सरकार दोनों के टैक्स को मिलाया जाये तो जनता से 41.60 रुपए प्रति लीटर टैक्स वसूला जा रहा है। इसके अलावा पेट्रोल पर कुल टैक्स 29.29 रुपए प्रति लीटर वसूला जा रहा है। उन्होने बताया कि शिवराज सरकार 2017-18 में प्रदेश की जनता से 2893 करोड़ रुपए वसूल चुकी है।

उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को इस लूटमार का श्रेय भी लेना चाहिए और जनता को बताना चाहिए कि हम विदेशियों को आधी कीमत में पेट्रोल-डीजल बेच रहे है।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें