पीएम मोदी की तारीफ करना पड़ा महंगा, कांग्रेस ने अब्दुल्ला कुट्टी को किया पार्टी से बाहर

लोकसभा 2019 चुनाव में जबरदस्त जीत हासिल करने वाली बीजेपी और पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ करने पर एक कांग्रेस नेता को पार्टी से निलंबित कर दिया गया है। केरल प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने अब्दुल्ला कुट्टी को पार्टी से निलंबित कर दिया है।

निलंबन पर उन्होंने दुख जताते हुए कहा है कि वह पार्टी के इस फैसले से बेहद हैरान हैं, क्योंकि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है। वह बोले, “समय साबित करेगा कि मैं बेकसूर हूं।” उन्होने कहा, “केरल प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने मुझे निलंबित कर दिया है…यह खबर अभी मुझे पता लगी। मैं काफी आहत हुआ हूं और मुझे इससे दुख पहुंचा है। प्रदेश अध्यक्ष मुल्लापल्ली रामचंद्रन की तरफ से मुझे इस चीज की उम्मीद थी कि वह मेरे साथ क्रूरता से पेश आएंगे, क्योंकि मैं चुनाव में उन्हें दो बार मात दे चुका हूं।”

उनके मुताबिक, “प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने मुझे निलंबत कर औपचारिकता निभाई है। तकनीकी कारणों के चलते पार्टी की ओर से मुझे चिट्ठी जारी की है। पार्टी के आधिकारिक मुख-पत्र में भी मेरे खिलाफ लेख लिखा गया है कि मुझे निलंबित किया जाना चाहिए।”

कांग्रेस की केरल इकाई ने एक बयान में कहा कि अब्दुल्लाकुट्टी ने पार्टी के हितों और उसके कार्यकर्ताओं की भावनाओं के विरुद्ध बयान देकर पार्टी के खिलाफ काम किया है। इसमें कहा गया कि वह मीडिया के माध्यम से कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ अपमानजनक बयान दे रहे थे और पार्टी अनुशासन तोड़ रहे थे। रामचंद्रन ने कहा, ‘‘इन हालात में अब्दुल्लाकुट्टी को तत्काल प्रभाव से पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है।”

पहले दो बार माकपा से सांसद रहे अब्दुल्लाकुट्टी को 2009 में गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में मोदी की तारीफ करने पर भी वाम दल से निकाला गया था। बाद में वह कांग्रेस से विधायक बने। उन्होंने इस बार मोदी की तारीफ की तो उनके शासनकाल में शुरू की गयीं स्वच्छ भारत मिशन और उज्ज्वला जैसी योजनाओं की भी प्रशंसा की।

कांग्रेस के मुखपत्र ‘वीक्षणम’ में अब्दुल्लाकुट्टी की निंदा करते हुए उन्हें ‘प्रवासी पक्षी’ करार दिया गया और कहा गया है कि उनका बर्ताव पूरी तरह अस्वीकार्य है।

विज्ञापन