namaz 1 march 1

हरियाणा के पूर्व ऊर्जा मंत्री और कांग्रेस नेता अजय यादव ने नमाज के मुद्दे को लेकर सीएम मनोहर लाल खट्टर के बयान की कड़ी आलोचना की. उन्होंने कहा कि हम लोग भी तो पार्कों और सड़कों पर जागरण और योग करते है.

ध्यान रहे गुरुग्राम में बीते दिनों हिंदूवादी संगठनों की ओर से मुस्लिमों को शुक्रवार की नमाज पढ़े जाने से रोके जाने के बाद सीएम मनोहर लाल खट्टर ने मुस्लिमों को मस्जिद और ईदगाह में नमाज पढ़ने को कहा था.

एएनआई से बातचीत में खट्टर ने कहा था कि ‘यह हमारी ड्यूटी है कि कानून और व्यवस्था को बनाए रखा जाए. खुले में नमाज पढ़ने का प्रचलन बढ़ा है. सार्वजनिक स्थानों पर नमाज पढ़ने की बजाय मस्जिद और ईदगाह में जाना चाहिए.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस मामले में अब यादव ने कहा, ‘इस तरह के बयान देने के बजाए सीएम को नमाज पढ़ने वालों के लिए बड़ी जगह उपलब्ध कराना चाहिए. वे सड़क पर नमाज इसलिए पढ़ते हैं कि उनके पास पर्याप्त बड़ी जगह नहीं है और सिर्फ अकेले उन्हें ही क्यों दोष दिया जाए? क्या हम पार्क में योग नहीं करते या कभी-कभी सड़क पर जागरण नहीं होता.’

यादव ने यह भी दावा किया कि गुरुग्राम के मुस्लिम एक दशक से खुले में नमाज पढ़ रहे हैं. यादव ने आरोप लगाया कि 2019 चुनावों के मद्देनजर बीजेपी समाज को धार्मिक आधार पर बांटना चाहती है. उनके मुताबिक, हिंदुओं के वोट पाने के लिए बीजेपी राजनीतिक खेल खेल रही है.

हीं, हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमिटी के चीफ अशोक तंवर ने भी सीएम के बयान की आलोचना की है. उन्होंने कहा, ‘बीजेपी और आरएसएस का हमेशा यही अजेंडा रहा है कि लोगों की धार्मिक भावनाओं से खेला जाए और सांप्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ा जाए.’