ram dayal uike
image credit:ANI

नई दिल्ली । पांच राज्यों के चुनाव की तारीखों का एलान पहले ही हो चुका है. चुनाव तारीखों का एलान होते ही राजनीतिक दलों में एक-दूसरे को चुनाव से पूर्व मात देने का खेल भी शुरू हो चुका है. नेताओं को दल-बदल के दांव खेले जा रहे हैं. फिलहाल अब तक का सबसे बड़ा दांव छत्तीसगढ़ में भाजपा ने खेला है. भाजपा ने कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष रामदयाल उइके को अपने साथ शामिल कर लिया.

छत्तीसगढ़ में चुनावी बिगुल बजते ही कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है. राज्य में विधानसभा चुनाव प्रचार शुरू होने से पहले ही कांग्रेस के कद्दावर नेता और कार्यकारी अध्यक्ष रामदयाल उइके ने पार्टी छोड़ दी है और उन्होंने भाजपा का दामन थाम लिया है. उन्होंने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की मौजूदगी में भाजपा जोईन की. रामदयाल उइके वर्तमान में विधायक हैं और राज्य के मतदाताओं में उनकी ठीक-ठाक पैठ मानी जाती है. अब चुनाव से ऐन पहले उनका पार्टी छोड़ना कांग्रेस के लिए बड़ा झटका है.

Loading...

कांग्रेस छत्तीसगढ़ में सत्तारूढ़ भाजपा को हटाने के लिए जोर-शोर से प्रयास में जुटी है, लेकिन कार्यकारी अध्यक्ष रामदयाल उइके के अलविदा कहने के बाद पार्टी के प्रयासों को भी धक्का लग सकता है. कांग्रेस नेता रामदयाल उइके ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और राज्य के मुख्यमंत्री रमन सिंह की मौजूदगी में पार्टी ज्वाइन की.

दूसरी तरफ, इस मामले में छत्तीसगढ़ पीसीसी चीफ भूपेश बघेल का कहना है कि कल ही रामदयाल उइके से मुलाकात हुई थी. चुनाव का मौसम है आना जाना लगा रहेगा. हमारी सीईसी की बैठक हो गई है. तीन-चार दिन में पहली लिस्ट आ जाएगी. आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ में दो चरणों में 12 और 20 नवंबर को चुनाव होंगे. विधानसभा चुनावों को काफी अहम माना जा रहा है, क्योंकि अगले साल लोकसभा चुनाव होने हैं. छत्तीसगढ़ समेत अन्य राज्यों के चुनावों को लोकसभा चुनाव का सेमीफाइनल माना जा रहा है.

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें