कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री को एक और बड़ा झटका दिया है। दरअसल उन्होने बंगाल में होने वाले विधानसभा उपचुनावों के लिए राज्य में कांग्रेस-वाम मोर्चा गठबंधन को अपनी मंजूरी दे दी है।

राज्य के कांग्रेस नेताओं का कहना है कि शुक्रवार को पश्चिम बंगाल कांग्रेस के अध्यक्ष सोमेन मित्रा के साथ सोनिया की मुलाकात के बाद इसे मंजूरी दी गई। बता दें कि सोनिया के अध्यक्ष बनने के साथ ही ममता बनर्जी की पार्टी के नेताओं की कांग्रेस के साथ गठबंधन की बातचीत चल रही थी।

कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘हमारे राज्य के अध्यक्ष ने सोनियाजी को सूचित किया कि उपचुनाव तीन सीटों नादिया जिले में करीमपुर, मिदनापोर जिले में खड़गपुर और उत्तम दिनाजपुर जिले के कालीगंज में होगा। यह भी प्रस्तावित है कि कांग्रेस खड़गपुर और कालीगंज सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी जबकि वाम मोर्चा करीमपुर सीट से उम्मीदवार उतारेगा।’

कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘हम खुश हैं कि दिल्ली में टीएमसी के कांग्रेस से नजदीक रहने के बावजूद हमारे हाईकमान ने बंगाल में हमारी रणनीति को समझा। हमारे हाईकमान ने हमारे रुख का समर्थन किया, जो राज्य में  टीएमसी और भाजपा के खिलाफ है।’

दूसरी और टीएमसी भी भाजपा की बढ़ती ताकत को देखते हुए विपक्षी दलों का एक संयुक्त मोर्चा बनाने की रणनीति पर काम रही हैं। लेकिन इन दोनों दलों टीएमसी की इस मांग को खारिज कर दिया। लिहाजा ममता बनर्जी अकेले चुनाव लड़ने की तैयारी में है। इसके लिए ममता गांव गांव जा रही हैं और इसके लिए ममता बनर्जी ने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर को अपना सलाहाकर नियुक्त किया है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन